बिहार में भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर आफत, 85 नौकरी से बर्खास्त, अभी सैकड़ों पुलिसकर्मी राडार पर


पटना। बिहार में भ्रष्ट पुलिसकर्मियों के दिन अब लदने वाले हैं। इस साल भ्रष्टाचार में लिफ्त पुलिसकर्मियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है। बिहार पुलिस मुख्यालय के अनुसार बिहार में 644 पुलिसकर्मियों पर भ्रष्टाचार को लेकर कार्रवाई चल रही है। यह आकंड़ा इस साल नवंबर तक का है। इनमें से 85 पुलिसकर्मियों को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। कार्रवाई की जद में सिपाही से लेकर आईपीएस अधिकारी तक हैं। ये कार्रवाई उन पुलिसकर्मियों पर की गई है, जो अवैध खनन, परिवहन और शराबबंदी कानून को पालन करवाने में असफल रहे हैं। इसके साथ ही भ्रष्टाचार के भी कई मामले इन पर दर्ज हैं। जांच के दौरान यह भी बात सामने आई थी कि इन जिम्मेदारों ने अपने कर्तव्यों का निर्वहन भी सही तरीके से नहीं किया है। स्थानीय अखबार की रिपोर्ट के अनुसार पुलिस मुख्यालय ने ऐसे पुलिसकर्मियों और अफसरों को सख्त लहजे में चेतावनी दिया है कि ऐसी गतिविधियों में संलिप्त रहने पर बख्शा नहीं जाएगा।
बड़े अधिकारियों पर भी कार्रवाई
पुलिस मुख्यालय के अनुसार विभिन्न जिलों के बड़े अधिकारियों पर भी लापरवाही और भ्रष्टाचार के मामले में कार्रवाई चल रही है। इस सूची में 38 ऐसे अधिकारी हैं, जिनका रैंक डीएसपी और उससे ऊपर है। दो आईपीएस अधिकारी भी इसमें शामिल हैं। इन लोगों को विभागीय सजा भी दी गई है। वहीं, कुछ के खिलाफ अभी कार्रवाई जारी है। वहीं, बिहार पुलिस सेवा के 7 अधिकारियों को भी सजा दी गई है। इसके साथ ही 25 के खिलाफ अभी विभागीय कार्रवाई जारी है। जांच पूरी हो जाने के बाद इन लोगों पर भी उचित कार्रवाई की जाएगी। पुलिस मुख्यालय के अनुसार अभी जिन पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई जारी है, उनकी संख्या 606 के करीब है। इसमें सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर तक शामिल हैं।
85 को किया गया बर्खास्त
भ्रष्टाचार में संलिप्त रहे 85 पुलिसकर्मियों को पुलिस मुख्यालय ने इस साल नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। कुछ के खिलाफ बड़ी कार्रवाई भी की गई है। अभी दर्जनों पुलिसकर्मियों के मामले विचाराधीन भी हैं। जिन पर जल्द ही मुख्यालय स्तर से फैसला आना है। साथ ही कुछ वैसे मामलों की पुलिस मुख्यालय समीक्षा भी कर रही है, जिनमें पुलिसकर्मियों को कम सजा हुई है।