मुजफ्फरपुर में मक्के दी रोटी और सरसों दा साग ऑनलाइन


मुजफ्फरपुर। आधुनिक युग में पुराने जमाने का भोजन मक्के की रोटी और सरसों के साग को शहर का खादी ग्रामोद्योग सबकी जुबान पर ला रहा है। फोन से ऑनलाइन ऑर्डर कर 100 रुपए में साग, 2 रोटी, आंवले की चटनी लोगों को परोसी जा रही है। देश में हावी होते वेस्टर्न कल्चर और वेस्टर्न भोजन के बीच खादी ग्रामोद्योग की अच्छी पहल है। इस पहल से लोगों में इसका प्रचलन बढ़ेगा। साथ ही इस भोजन की मांग बढ़ने पर अगल बगल के किसानों के लिए रोजगार भी पैदा होगा। साथ ही जिले में विलुप्त होती मक्के और सरसों की खेती को बढ़ावा मिलेगा। इसमें देहात के लोगों के रोजगार की व्यवस्था की गई है। शहर के लोग इस भोजन का आनंद भी उठा रहे है। ये व्यंजन मिट्टी के चूल्हे और लकड़ी के बर्तन में तैयार किया जाता है। बैठ के खाने के लिए चटाई और चारपाई की व्यवस्था की गई है। इस देसी भोजन ने पुराने जमाने की याद ताजा कर दी है।