पूर्वी दिल्ली नगर निगम में पार्षदों ने एक-दूसरे पर जूते उछाले


  • आम आदमी पार्टी के मुताबिक उत्तरी नगर निगम में भाजपा के शासन में ढाई हजार करोड़ रुपये का घोटाला हुआ।
  • पार्टी के पार्षदों ने इसकी जांच सीबीआई से करवाने की मांग उठाई। वहीं भाजपा ने आप के पार्षदों पर बदसलूकी का आरोप लगाया।
  • बीजेपी मेयर ने नेता विपक्ष मनोज त्यागी पार्षद मोहिनी जीनवाल एवं स्टैंडिंग कमेटी की मेंबर गीता रावत को 15 दिन के लिए सस्पेंड कर दिया।
नई दिल्ली ब्यूरो। सोमवार को पूर्वी दिल्ली नगर निगम में पार्षदों के बीच तू-तू मैं-मैं हो गई। आपस में झगड़ते पार्षदों ने एक-दूसरे पर जूते चप्पल तक उछाले। आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सदन में भाजपा के निगम पार्षदों ने उनके पार्षदों पर जूते-चप्पल से हमला किया। वहीं भाजपा ने आप के पार्षदों पर बदसलूकी का आरोप लगाया है। आप नेता दुर्गेश पाठक ने कहा, "दिल्ली के राजनीतिक इतिहास में इससे शर्मनाक दिन और इससे शर्मनाक घटना आज तक कोई नहीं हुई होगी। यदि इस प्रकार की बदतमीजी और अभद्र घटनाओं से भाजपा को लगता है कि वह आम आदमी पार्टी के निगम पार्षदों को डरा देगी, तो यह भारतीय जनता पार्टी की भूल है।" पाठक ने कहा कि उत्तरी नगर निगम में भाजपा के शासन में ढाई हजार करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है, और आम आदमी पार्टी इस मुद्दे को लगातार उठा रही है। जब तक इसकी सीबीआई जांच के आदेश नहीं दिए जाते, आम आदमी पार्टी इसी प्रकार से इस मुद्दे को उठाती रहेगी। सोमवार को पूर्वी दिल्ली नगर निगम में भी इन्ही आरोपों को लेकर झड़प हुई। उन्होंने कहा कि जब आम आदमी पार्टी के निगम पार्षदों ने इस मामले में जांच की आवाज उठाई तो भाजपा के मेयर ने आम आदमी पार्टी के पार्षद एवं नेता विपक्ष मनोज त्यागी पार्षद मोहिनी जीनवाल एवं स्टैंडिंग कमेटी की मेंबर गीता रावत को 15 दिन के लिए निष्कासित कर दिया। पाठक ने कहा, "मैं भाजपा को बता देना चाहता हूं कि आम आदमी पार्टी आंदोलन से निकली हुई पार्टी है। हमारी पार्टी के लोग किसी भी कीमत पर डरने वाले नहीं हैं। हमारे कार्यकर्ता भाजपा के भ्रष्टाचार को दिल्ली की जनता के सामने उजागर करती रहेगी।"