बीड़ी से मासूम का प्राइवेट पार्ट जलाता था पिता! बिस्तर में पेशाब करने पर पटककर ली थी जान


कानपुर ब्यूरो। सिरफिरे पिता ने बिस्तर में पेशाब करने पर अपने चार साल के बेटे की फर्श पर पटक कर जान लेली थी। आरोपी की पत्नी ने पति की क्रूरता का काला चिट्ठा पुलिस के सामने खोला तो उसे सुनकर सभी हैरान रह गए। पत्नी ने बताया कि पति 4 साल के रवींद्र को अपना बेटा नहीं मानता था। पति मासूम को बेरहमी से पीटता था। जलती हुई बीड़ी बेटे के शरीर और प्राइवेट पार्ट में छुआता था। विरोध करने पर सभी को जमकर पीटता था। मूलरूप से हमीरपुर जिले में रहने वाला संतराम प्रजापति मजदूरी करता है। संतराम परिवार समेत घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र के लकी ईंट भट्ठे में काम करता था। परिवार में पत्नी अनीता, बेटी अंजना (10), खुशबू (7) और बेटे रवींद्र (4) के साथ रहता था। संतराम के अमानवीय व्यवहार से पूरा परिवार परेशान था।
कुल्हाड़ी से कर चुका था हमला
घाटमपुर कोतवाली पहुंची आरोपी की पत्नी अनीता ने पुलिस कर्मियों को पूरा घटनाक्रम बताया। अनीता ने बताया कि पति बच्चे को पंसद नहीं करता था। इससे पहले भी उसको जान से मारने का प्रयास कर चुका था। एक दिन बच्चा खिलौने को लेकर जिद कर रहा था। इस पर संतराम ने बच्चे पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया था। इस घटना के बाद मैं बच्चों को लेकर मायके चली गई थी। संतराम ने पुलिस के सामने माफी मांगी थी, तब मैं मायके से बच्चे समेत वापस लौटी थी।
जलती हुई बीड़ी से जलाता था प्राइवेट पार्ट
अनीता ने बताया कि पति बच्चे के साथ क्रूरता करता था। बेटे को बेरहमी से पीटता था, उसको गर्मियों में धूप में खड़़ा कर देता था। जलती हुई बीड़ी उसके शरीर और प्राइवेट पार्ट में छुआता था। बेटा बिलख कर रह जाता था, उसका दर्द देखा नहीं जाता था। बीते 15 दिसंबर की रात संतराम के बेटे ने बिस्तर पर पेशाब कर दिया था। इस बात से नाराज पिता ने बेटे को बेरहमी से पीटा था और फर्श पर पटक कर जान ले ली थी। इस घटना के अगले ही दिन आरोपी पिता परिवार समेत हमीरपुर गांव भाग गया था। आरोपी की पत्नी ने पूरा घटना अपने भाई को फोन पर बताया था। अनीता के भाई ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी। पुलिस ने आरोपी को उसके गांव से अरेस्ट किया था।