भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के खिलाफ ब्राह्मण समाज का प्रदर्शन, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन


पलवल। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत द्वारा ब्राह्मणों व मंदिरों पर की गई टिप्पणी के खिलाफ सोमवार को ब्राह्मण समाज द्वारा प्रदर्शन किया गया। जिला ब्राह्मण सभा के प्रधान धर्मचंद सिहौल के नेतृत्व में जुलूस निकालने के बाद एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। लोगों ने नारेबाजी करते हुए राकेश टिकैत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की। एसडीएम ने उनकी मांगों को वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। सोमवार को समाज के लोग रेलवे रोड स्थित जिला ब्राह्मण धर्मशाला में एकत्रित हुए। ट्रैक्टरों में सवार होकर कई लोग ग्रामीण क्षेत्रों से भी पहुंचे। धर्मशाला में बैठक कर वहां से विश्रामगृह तक जुलूस निकालने का निर्णय लिया। मीनार गेट, पुराने जीटी रोड, पुराने और नए सोहना मोड़ से होते हुए जुलूस आगरा चौक पहुंचा। वहां नारेबाजी के बाद समाज के लोग विश्रामगृह पहुंचे। एसडीएम जब ज्ञापन लेने पहुंचे तो समाज के लोग दिल्ली-आगरा राजमार्ग पर बैठ गए और उपायुक्त को बुलाने की मांग करने लगे। इस वजह से राजमार्ग पर दोनों तरफ जाम लग गया। कुछ ही देर में वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। एसडीएम कंवरपाल ने लोगों को बताया कि उपायुक्त की मां बीमार हैं और वे पलवल में नहीं हैं। वह ज्ञापन सौंप दें, उनकी सभी मांगों को वरिष्ठ अधिकारियों व सरकार तक पहुंचा दिया जाएगा। इसके बाद समाज के लोगों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। सभा के पदाधिकारियों ने कहा कि राकेश टिकैत के खिलाफ तुरंत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया जाए। ऐसा नहीं होने पर बड़ा आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी। इस दौरान शंभू पहलवान, दिनेश भारद्वाज, वीरेंद्र शर्मा, वीरपाल दीक्षित, सुरेश भारद्वाज, भूदेव शर्मा, आजाद पाठक, तुहीराम भारद्वाज आदि ने लोगों को संबोधित किया।
हथीन से भी पहुंचे समाज के लोग
हथीन। भाकियू नेता राकेश टिकैत की ब्राह्मणों एवं मंदिर प्रबंधकों के खिलाफ अभद्र टिप्पणियों की खिलाफत के लिए पलवल में हुए प्रदर्शन में क्षेत्र से ब्राहमण समाज के हजारों लोगों ने भाग लिया। हथीन से रवाना होने से पहले कुटी मंदिर स्थित परशुराम चौक पर पंडित मोतीलाल शर्मा ने कहा कि राकेश टिकैत को सोशल मीडिया पर नहीं, बल्कि सार्वजनिक रूप से ब्राह्मणों से माफी मांगनी होगी। राकेश टिकैत किसान आंदोलन के नाम पर जातिवादी कार्ड खेल रहे हैं, जो ओछी मानसिकता का परिचायक हैं। ब्राह्मण समाज इसका मुंहतोड़ जवाब देगा। इस दौरान बिजेंद्र शास्त्री, भारतभूषण शर्मा, हरकेश शर्मा, दीपक शर्मा, तरुण शर्मा आदि ने कहा कि किसानों के नाम पर राजनीति कर राकेश टिकैत ब्राह्मणों व पुजारियों के खिलाफ जहर उगल रहे हैं। इस आंदोलन में ब्राह्मण समाज के साथ 36 बिरादरियों के लोग कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।