बेशकीमती दोमुंहे सांप की हो रही थी तस्करी, पुलिस ने चार आरोपियों को किया गिरफ्तार


  • बहराइच पुलिस ने रोकी बेशकीमती और दुर्लभ सांप की तस्करी
  • रेड सैंड बोआ सांप की तस्करी करते 4 तस्करों को किया अरेस्ट
  • दो आरोपी फैजू अली और कोयली, पुलिस को चकमा देकर फरार
बहराइच। उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले से दुर्लभ प्रजाति का दो मुंह वाला रेड सैंड बोआ सांप बरामद किया गया है। पुलिस ने चार अंतरराज्यीय वन्य जीव तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अशोक कुमार ने मंगलवार को बताया कि ‘वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो’ और ‘वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया ’ की तरफ से सूचना दी गई थी कि बहराइच और लखीमपुर के जंगलों में मौजूद अत्यधिक दुर्लभ प्रजाति के सांपों को स्थानीय लोगों की मदद से पकड़वाकर अंतरराज्यीय वन्यजीव तस्कर इनकी तस्करी करते हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार शाम पुलिस दल को खैरीघाट थानांतर्गत रामपुर धोबियाहार में एक कार से तलाशी के दौरान व्यवसायिक ढंग से सहेजकर रखा गया दोमुंहा रेड सैंड बोआ सांप बरामद हुआ। एसपी ग्रामीण ने बताया कि पकड़े गए चारों वन्यजीव तस्कर सतीश कुमार (लखनऊ), पंकज सिंह (लखनऊ), मनोज कुमार (कानपुर) और बहराइच के खैरीघाट क्षेत्र निवासी राजकुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है।
दो आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार
सांप को पकड़ने और तस्करी में मददगार बहराइच के मोतीपुर क्षेत्र निवासी फैजू अली और कोयली, पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए हैं। दोनों फरार अभियुक्तों की तलाश जारी है।
अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों में कीमत
एसपी कुमार ने बताया कि बरामद बेशकीमती सांप को वन विभाग के सुपुर्द किया गया है। दो मुंह वाले गैर विषैले रेड सैंड बोआ सांप को जंगल से सटे इलाकों में दोमुंहा सांप के नाम से जाना जाता है। इस सांप की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करोड़ों रुपये है।