मोहम्मद कमाल बन मलेशिया, दुबई सहित कई देशों की यात्रा कर चुका था अब्दुल मजीद कुट्टी, हुआ गिरफ्तार


  • गुजरात एटीएस की टीम ने आतंकी दाऊद इब्राहिम के करीबी अब्दुल मजीद कुट्टी को जमशेदपुर से किया गिरफ्तार
  • फरार आरोपी अब्दुल मजीद को 25 दिसंबर को किया गया था गिरफ्तार
  • जमशेदपुर में मोहम्मद कमाल बनकर रहा रहा था अब्दुल मजीद कुट्टी
रांची। गुजरात एटीएस की टीम ने जमशेदपुर से आतंकी दाऊद इब्राहिम के करीबी अब्दुल मजीद कुट्टी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। झारखंड पुलिस की ओर से आधिकारिक रूप से यह जानकारी दी गयी कि गुजरात एटीएस की टीम ने मैहशाना थाना कांड मामले में फरार आरोपी अब्दुल मजीद को 25 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया है। झारखंड पुलिस ने बताया कि गुजरात एटीएस की टीम मैहशाना थाना कांड संख्या 449/96 के अभियुक्त मो कमाल का नाम, पता, सत्यापन के लिए जमशेदपुर के मानगो थाना आई थी। इस पर 1996 में हथियार सप्लाई करने का आरोप दर्ज है। इसके अंतरराष्ट्रीय गैंग के साथ साठ-गांठ थी। आरोपी अब्दुल मजीद कुट्टी जमशेदपुर के मानगो में मोहम्मद कमाल के नाम से रह रहा था। अभियुक्त मो कमाल को मानगो चौक से अपनी कार से आते हुए बारी मस्जिद के पास पुलिस ने हिरासत में लिया गया।
पूछताछ में मोहम्मद कमाल का सामने आया असली नाम
पुलिस के मुताबिक, जब मोहम्मद कमाल से थाने में लाकर पूछताछ की गई तो जानकारी मिली कि अभियुक्त का सही नाम अब्दुल मजीद कुट्टी है, जो अपना नाम बदल कर मोहम्मद कमाल के नाम पर पासपोर्ट बनाकर मलेशिया, दुबई, बैकॉक और अन्य देशों में रह रहा था। कुछ दिनों से वह जमशेदपुर के मानगो सहारा सिटी में रह रहा था।
हथियारों की सप्लाई का काम करता है अब्दुल मजीद कुट्टी
पुलिस का दावा है कि आरोपी अब्दुल मजीद कुट्टी हथियारों की सप्लाई का काम करता है। मोहम्मद कमाल उर्फ मजीद कुट्टी से पूछताछ करने के लिए एटीएस गुजरात पुलिस अपने साथ गुजरात लेकर चली गयी। बता दें, झारखंड पहले भी कई आतंकी संगठनों के लिए स्लीपर सेल के रूप में चर्चा में रहा है। पूर्व में भी कई आतंकी संगठनों से जुड़े सदस्यों की रांची और जमशेदपुर समेत अन्य जिलों से गिरफ्तार किया जा चुका है।