बिहार से चोरी हुई बुलेट बाइक की सवारी कर रहा था झारखंड का दारोगा


  • बिहार से चोरी बुलेट की सवारी कर रहा था झारखंड का दारोगा
  • बाइक मालिक के मोबाइल पर आए SMS ने खोला राज
  • दुमका का दारोगा घूम रहा था चोरी की बुलेट मोटरसाइकिल पर
  • बाइक जब्त, आरोपी दारोगा सस्पेंड
दुमका। दुमपटना के श्री कृष्णापुरी थाना क्षेत्र के निवासी दिवाकर कुमार की बुलेट मोटरसाइकिल साल 2015 में पटना से ही चोरी हो गई थी। उन्होंने पटना के श्रीकृष्णापुरी थाना में इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी। 5 साल के बाद वो ये मान चुके थे कि उनकी बुलेट अब नहीं मिलने वाली। लेकिन अचानक 23 दिसंबर 2020 को शाम करीब 6.30 बजे उनके मोबाइल पर एक SMS आया जिसे पढ़ने के बाद उन्हें पता चला कि उनकी बुलेट मोटरसाइकिल दुमका में है। दरअसल दुमका-भागलपुर रोड स्थित बुलेट शोरूम से दिवाकर के मोबाइल पर एक मैसेज आया। उसमें लिखा था कि उनकी बुलेट की सर्विसिग हो गई है और वह पेमेंट देकर अपनी बाइक ले जा सकते हैं। दिवाकर के मुताबिक मैसेज में आए टोल फ्री नंबर पर उन्होंने जब फोन किया तो उन्हें इसकी पूरी जानकारी मिली। पूछने पर बुलेट शोरूम के कर्मचारियों ने कहा कि दुमका मुफस्सिल थाना के अखलाक खान नामक के एक पुलिस पदाधिकारी बुलेट लेकर आए थे और इसे सर्विस करने के लिए शोरूम में दिया है। इसके बाद बुलेट के मालिक दिवाकर ने मामले की जानकारी पटना के श्रीकृष्णपुरी थाने को दी और दुमका पुलिस से संपर्क साधने का अनुरोध किया। इधर मुफ्फसिल थाना के एएसआइ अखलाक खान बुधवार की शाम में शोरूम पहुंचे और सर्विसिग चार्ज का भुगतान करने के बाद बुलेट लेकर चले गए। लेकिन मामला सामने आने के बाद पुलिस ने गुरुवार को पटना से चोरी गई बुलेट को जब्त कर लिया।
आरोपी दारोगा सस्पेंड
दुमका के एसपी अंबर लकड़ा के अनुसार मामले की जानकारी मिलते ही कार्रवाई कर पटना से चुराई गई बुलेट मोटरसाइकिल बरामद कर ली गई है और चोरी की बाइक रखने के आरोप में प्रथम दृष्टया दोषी पाए गए दुमका मुफ्फसिल थाना में पदस्थापित एएसआइ अखलाक खान को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। पूरे मामले की जांच की जिम्मेदारी पुलिस निरीक्षक सह नगर थाना प्रभारी देवब्रत पोद्दार को सौंपी गयी है। जांच के बाद उचित कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।