विदेशों से कॉल आने पर स्पेशल सेल के अधिकारी तैनात, संदिग्ध मोबाइल नंबर सर्विलांस पर 


  •  शरारती तत्व प्रदर्शनकारियों में घुसकर कर सकते हैं शरारत 
  • खुफिया विभाग के इनपुट्स के बाद सेल ने कई नंबरों को सर्विलांस पर लिया 
  • अपराध शाखा के पुलिस अधिकारियों को भी तैनात किया गया 
  • किसानों के रूप में शरारती तत्वों के घुसने के इनपुट्स 
नई दिल्ली ब्यूरो। नए कृषि कानूनों के विरोध में बाहरी दिल्ली में हो रहे प्रदर्शनों में किसानों के रूप में कुछ शरारत तत्व घुसकर शरारत कर सकते हैं। प्रर्दशन स्थलों पर कुछ शरारती तत्व घुसने की कोशिश भी कर रहे हैं। साथ ही यहां विदेशों से आने वालों की कॉल की संख्या भी बढ़ गई है। देश के खुफिया विभाग ने गृहमंत्रालय को शुक्रवार शाम को ये इनपुट्स दिए हैं। इस तरह के इनपुट्स मिलने के बाद गृह मंत्रालय के आदेश के बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल व अपराध शाखा के पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इनपुट्स में कहा गया है कि कुछ शरारती तत्व प्रदर्शनकारियों में घुसकर माहौल को बहुत ज्यादा खराब कर सकते हैं। ये शरारती तत्व चहाते हैं कि किसान और पुलिस के बीच टकराव हो।
इन शरारती तत्वों को एक संगठन का समर्थन मिला हुआ है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने ये भी बताया कि कुछ शरारती तत्वों की पहचान कर ली गई है और जल्द ही उन्हें दबोच लिया जाएगा। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि प्रदर्शनकारियों के बीच में कुछ लोगों के पास कनाडा समेत कई देशों से कॉल आ रही हैं। विदशों से आने वाले फोनों की संख्या में एकदम बढ़ी है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इनमें से कुछ संदिग्ध मोबाइल नंबर की पहचान की है और इन नंबरों को सर्विलांस पर ले लिया गया है। इन नंबरों के आधार पर संदिग्धों की पहचान की जा रही है। संदिग्धों पर ही नजर रखने के लिए स्पेशल सेल व अपराध शाखा के पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया है। स्पेशल सेल व अपराध शाखा के अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि किसी शरारती तत्व के पास हथियार तो नहीं है। इनपुट्स में ये भी कहा गया है कि प्रदर्शनकारियों के बीच एक समुदाय के लोग किसानों के रूप में घुस सकते हैं। 
बॉर्डरों पर अन्य दिनों की तरह रही सुरक्षा
किसान आंदोलन को देखते हुए बॉर्डरों पर अन्य दिनों की तरह सुरक्षा व्यवस्था रही। पुलिसकर्मियों को एक 24-24 घंटे की ड्यूटी लगाई गई हैं। बार्डरों पर शनिवार को अद्र्धसैनिक बलों के कुछ अतिरिक्त जवान तैनात किए गए हैं। नई दिल्ली की ओर जाने वाले मार्गों पर हर रोज की तरह शनिवार को भी चेकिंग होती रही। सीनियर पुलिस अधिकारी बॉर्डर व अन्य जगहों पर जाकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहें।