जिनके माता-पिता जेल में बंद हैं, उन बच्चों की आर्थिक सहायता करेगी दिल्ली सरकार : राजेंद्र पाल गौतम


नई दिल्ली ब्यूरो। दिल्ली सरकार की ऐसे बच्चों को वित्तीय सहायता दी जाएगी, जिनके माता-पिता जेल में बंद हैं और वे बच्चे आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने इन बच्चों को वित्तीय सहायता मुहैया करवाने की योजना को जल्द लागू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस योजना को लेकर समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों और दिल्ली सरकार के बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष के साथ एक बैठक भी की। इस बैठक में एक ऐसी योजना को तैयार करने पर फैसला हुआ है, उन बच्चों को वित्तीय सहायता दी जाएगी, जिनके माता-पिता जेल में है। मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने बताया कि बैठक में योग्यता शर्तों और बच्चे को वित्तीय सहायता के के बारे में चर्चा हुई। इस योजना में उन बच्चों को सहायता दी जाएगी, जिनके माता-पिता जेल की सजा काट रहे हैं और उनके पास कोई वित्तीय साधन नहीं है। इससे पहले अभी तक इस योजना के तहत केवल उन्हीं बच्चों को वित्तीय सहायता दी जाती थी, जिनके माता-पिता दोनों जेल में हैं या दोनों में से किसी एक की मौत हो चुकी है। लेकिन अब मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने निर्देश दिए हैं कि अगर पैरंट्स में से कोई भी एक जेल में होगा तब भी उनके बच्चे वित्तीय सहायता पा सकते हैं। माता या पिता के जेल जाने से अक्सर बच्चों को आर्थिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थितियों में सरकार का यह कर्तव्य बन जाता है कि वह बच्चे को सहायता प्रदान करे। डीसीपीसीआर के अध्यक्ष अनुराग कुंडू ने योजना को लेकर अपनी बात रखी।