दिल्ली के पॉश इलाके ग्रेटर कैलाश की एक कोठी में नाबालिग के साथ गैंगरेप


  •  पुलिस ने चार आरोपी पकड़े, वारदात में नाबालिग लड़का भी शामिल
  • नाबालिग पर आरोप है कि वो ही बच्ची को बहला-फुसलाकर लाया था
  • कोठी पर तीन आरोपी पहले से थे मौजूद, सबने मिलकर वारदात की
  • गैंगरेप और 6 पोक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया
राजीव गौड,(नई दिल्ली)। दिल्ली के पॉश इलाके ग्रेटर कैलाश-1 में 14 साल की एक बच्ची के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया। वारदात में एक नाबालिग लड़का भी शामिल था। वारदात जीके-1 की एक कोठी में अंजाम दी गई जहां आरोपियों में से एक नाबालिग काम करता था। वहां पर ही बच्ची को नाबालिग ने किसी तरह से बुलाया। जहां पहले से तीन और आरोपी मौजूद थे। इसके बाद बच्ची के साथ चारों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। मामले की सूचना मिलने पर जीके थाना पुलिस ने सभी आरोपियों को पकड़ लिया है। साउथ दिल्ली पुलिस ने बताया कि घटना शनिवार की रात को अंजाम दी गई। बच्ची के साथ जीके एस-ब्लॉक की एक कोठी में गैंगरेप किया गया। वारदात को अंजाम देने वाले गिरफ्तार आरोपियों में शिवम उर्फ भोला, हरि शंकर उर्फ रामू, और मंगेश हैं। जबकि चौथा 17 साल का नाबालिग है। पुलिस ने बताया कि 20 साल का शिवम मूलरूप से फतेहाबाद यूपी के गांव बनीखेड़ा का रहने वाला है। 30 साल का आरोपी हरि शंकर भी इसी गांव का रहने वाला है और शिवम का कजन है। जबकि तीसरा 18 साल का आरोपी मंगेश महाराष्ट्र के उमरवाड़ा गांव का रहने वाला है।
पुलिस का कहना है कि पीड़ित बच्ची मदनपुर खादर इलाके की रहने वाली है। वह जीके में एक कोठी में काम करती है। पिछले करीब चार महीनों से वह इस कोठी में काम कर रही थी। इसी कोठी में आरोपियों में से एक नाबालिग भी काम करता था। उसने करीब एक महीने पहले यहां से नौकरी छोड़ दी थी। 19 दिसंबर की रात को नाबालिग ने बच्ची को जीके की एक दूसरी कोठी में बुलाया। वहां पहले से ही यह तीनों आरोपी भी मौजूद थे। आरोप है कि वहां चारों ने बच्ची के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। मामले में जीके थाना पुलिस ने गैंगरेप और 6 पोक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है।