ग्रेटर नोएडा में ठेकेदार की हत्या में सनसनीखेज खुलासा, 10वीं के दो छात्रों ने कार लूट के मकसद से मारी थी गोली



ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा के अटाई गांव के रहने वाले ठेकेदार हेमचंद उर्फ हेमी की हत्या में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। ठेकेदार की हत्या दसवीं के दो छात्रों ने कार लूट के मकसद से की थी और लाश को मुर्शीदपुर जंगल में ठिकाने लगा दिया था। पुलिस ने दोनों आरोपी छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है। यह हत्या बीते 6 जनवरी को हुई थी। छात्रों के पास से ठेकेदार की लूटी हुई कार एक मोबाइल और घटना के दौरान इस्तेमाल की गई बाइक बरामद की है। इस वारदात को शुरुआत में आपसी विवाद का परिणाम बताया जा रहा था। ठेकेदार का शव यमुना एक्सप्रेसवे के पास मुर्शदपुर गांव के जंगल में पड़ा मिला था। नोएडा पुलिस ने खुलासा किया है कि पकड़े गए दोनों आरोपी नाबालिग हैं। दोनों ने पुलिस को बताया कि घटना के दिन उन्होंने अपने एक दोस्त प्रवीण को फोन कर बुलाया था। दोनों अपने दोस्त प्रवीण की कार लूटना चाहते थे। दोनों के बुलाने पर जब प्रवीण वहां नहीं पहुंचा तो दोनों कार लूटने की फिराक में इधर-उधर घूमने लगे। इसी बीच दोनों आरोपियों ने मुर्शीदपुर के पास ठेकेदार हेमचंद को कार में बैठे देखा। ठेकेदार कार साइड में लगाकर अंदर बैठकर फोन पर बात कर रहे थे। इसी बीच दोनों आरोपी ठेकेदार के पास पहुंचे और रास्ता पूछने के बहाने ठेकेदार से गाड़ी का शीशा नीचे करवाया। शीशा नीचे करते ही ठेकेदार को सिर में गोली मार दी। इसके बाद उसके शव को नीचे फेंक कर उसकी कार और मोबाइल लेकर फरार हो गए। ग्रेटर नोएडा के अटाई गांव के रहने वाले हेमचंद उर्फ हेमी ठेकेदारी का काम करते थे। बुधवार की रात  कुछ लोगों ने पुलिस को खबर दी कि जंगल में एक लावारिस लाश पड़ी है। मौके पर पहुंची पुलिस को हेमचन्द का शव झाड़ियों में पड़ा मिला था।