दिल्ली में 13 साल के बच्चे को 'लड़की' बनाकर गैंगरेप, 2 आरोपी गिरफ्तार


नई दिल्ली ब्यूरो। दिल्ली के गीता कॉलोनी इलाके से एक बेहद ही दर्दनाक और दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां 13 साल के एक बच्चे का जबरन लिंग परिवर्तन करवाया गया और लंबे समय तक उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। दिल्ली महिला आयोग ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। दरअसल, मासूम बच्चे की मुलाकात एक अभियुक्त से लगभग तीन साल पहले लक्ष्मीनगर में एक डांस इवेंट में हुई। आरोपी ने दोस्ती की और उसे अपने साथ डांस सीखाने के बहाने मंडावली ले गया। वहीं आरोपी और उसके कुछ साथियों ने कुछ समय बाद पीड़ित बच्चे को रहने के लिए कहा। बच्चे को कुछ दिन बाद नशीला पदार्थ दिया जाने लगा और जबरन लिंग परिवर्तन करवा दिया गया। हालांकि कुछ समय बाद आरोपियों ने पीड़ित के एक परिचित को भी लाकर उसी के साथ रख लिया। एक दिन मौका देख कर दोनों बच्चे वहां से भाग निकले। पीड़ित बच्चे के साथ आरोपी और उसके अन्य साथी सामूहिक दुष्कर्म करते और पीड़ित से भीख भी मंगवाई जाती थी। पीड़ित ने बताया कि अभियुक्त स्वयं भी महिलाओं के वस्त्र पहनकर जिस्मफरोशी करते थे और आने वाले कस्टमरों को मार पीटकर उनके पैसे छीन लेते थे। हालांकि जब इस मामले की जानकरी दिल्ली महिला आयोग को मिली तो आयोग की सदस्य सारिका चौधरी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज करवाई। आरोपियों के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज हुआ है, साथ ही अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया है। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, 'यह मामला बेहद ही संगीन और दिल दहलाने वाला है। 13 वर्ष की उम्र में ही छोटे से बच्चे का जबरन लिंग परिवर्तन करवाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया जाने लगा और उसे जिस्मफरोशी के व्यापार में धकेल दिया गया। ये एक बहुत बड़ा रैकेट नजर आता है। किस्मत से दोनों पीड़ित वहां से बच निकले और दोनों की जि़न्दगी बच सकी। पुलिस को जल्द से जल्द सभी अभियुक्तों को गिरफतार करना चाहिए और उन्हें ऐसी सजा मिले जो वो कभी भूल ना पाएं।