फर्जी दस्तावेज पर 20 साल से भारत में रह रहा था रोहिंग्या, एटीएस ने किया गिरफ्तार


गोरखपुर। टेरर फंडिंग और भारत में अवैध रूप से निवास कर रहे लोगों की तलाश में जुटी उत्तर प्रदेश एटीएस ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए संतकबीरनगर से एक रोहिंग्या को गिरफ्तार किया है। उसके पास से भारतीय पासपोर्ट, आधार कार्ड, डेबिट कार्ड, कई बैंकों के पासबुक समेत म्यामार/बर्मा का राशन कार्ड भी बरामद हुआ है। गौरतलब है कि यूपी एटीएस को सूचना मिली थी कि संतकबीरनगर में एक व्यक्ति पिछले कुछ सालों से अवैध रूप से भारत में रह रहा है। इसके बाद यूपी एटीएस शख्स की मूल पहचान की तलाश में जुट गई। जांच में यह प्रमाणित हुआ कि व्यक्ति म्यामार का रहने वाला रोहिंग्या नागरिक है, जो नाम बदलकर साल 2001 से फर्जी पासपोर्ट और दस्तावेजों को तैयार कर भारत में निवास कर रहा था। साल 2017 में इसने फर्जी पासपोर्ट पर सऊदी अरब और बांग्लादेश की यात्रा भी की है। यूपीएटीएस के पड़ताल में यह भी प्राप्त हुआ कि इस शख्स ने अपने भाई और मां को भी भारत लाकर उनके भी फर्जी दस्तावेज बनवाए हैं।
खाते में बड़ी मात्रा में आता रहा कि विदेशी पैसा
यूपी एटीएस की जांच में यह भी सामने आया कि शख्स के खाते में विभिन्न व्यक्तियों, फर्मों और विदेशों से भी काफी मात्रा में विभिन्न बैंक के खातों में पैसा आता था। इसकी जांच की जा रही है। उधर, एडीजी ने बताया कि आरोपी के पास से भारतीय पासपोर्ट, आधार कार्ड, पैन कार्ड, डेबिड कार्ड, राशन कार्ड और विभिन्न बैंकों के पासबुक बरामद हुए हैं। आरोपी के खिलाफ धारा 419, 420, 467, 468, 471 के तहत एटीएस थाने में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं उसके सहयोगियों की गिरफ्तारी के लिए अन्य जनपदो में दबिश दी जा रही है।