21 साल की बेटी के साथ मिलकर बुजुर्ग महिला ने उड़ा ली लाखों की जूलरी


  • छत्तरपुर में जूलरी शॉप के मालिक ने की पुलिस को शिकायत
  • सीसीटीवी फुटेज में ईयररिंग्स बॉक्स चुराने की हुई पुष्टि
  • परिवार के 8 लोग किसी न किसी क्राइम में रहे हैं शामिल
नई दिल्ली। दिल्ली में एक 55 वर्षीय महिला को अपनी 21 साल की बेटी व बेटे के साथ मिलकर जूलरी शॉप में लाखों रुपये की जूलरी चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोप है कि महिला ने अपने फैमिली मेंबर्स के साथ मिलकर क्रिसमस के मौके पर राजधानी के छत्तरपुर इलाके में चोरी की इस वारदात को अंजाम दिया। जानकारी के अनुसार आरोपी महिला पर पहले से ही मर्डर का केस चल रहा है। पुलिस ने दावा किया कि महिला के फैमिली के अन्य मेंबर्स उसका पति व दो बेटे भी मर्डर के केस में शामिल हैं।
पहली बार बेटी और बेटा हुए गिरफ्तार
महिला की पहचान मिथिलेश के रूप में हुई है। वह दक्षिणी दिल्ली के मदनगीर की रहने वाली है। उसकी बेटी 21 वर्षीय दुर्गेश्वरी और 19 साल का बेटा चिराग भी इस चोरी की वारदात में शामिल होने का आरोप है। दुर्गेश्वरी और चिराग को पहली बार पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन लोगों के पास से सात पेयर ईयररिंग्स, एक मंगलसूत्र, एक चूड़ी व एक रिंग बरामद की। इसके अलावा क्राइम में यूज किया गया स्कूटर भी पुलिस ने पकड़ा है। इस मामले की शिकायत छत्तरपुर में जूलरी शॉप चलाने वाले शंभू दयाल ने पुलिस को की थी।
बिना कुछ खरीदे ही लौट गईं थी दोनों
डीसीपी (साउथ ) अतुल ठाकुर के अनुसार शंभू दयाल ने पुलिस को बताया कि 25 दिसंबर को दो महिलाएं उसकी दुकान में ईयररिंग्स खरीदने आई थीं लेकिन वो बिना कुछ खरीदे ही वापस लौट गईं। बाद में उन्होंने देखा कि उनकी ईयररिंग्स का एक बॉक्स गायब है। सीसीटीवी फुटेज चेक करने पर पता लगा कि दो महिलाओं ने वह बॉक्स चुराया है। चोरी हुए ईयररिंग्स के वजह करीब 50 ग्राम था। शिकायत के बाद पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी। डीसीपी ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर सामने आया कि इन तीनों ने लाल रंग के स्कूटर पर दिल्ली-गुड़गांव बॉर्डर को पार किया। बाद में पुलिस को चकमा देने के लिए ये लोग गुरुग्राम के सिकंदर पुर की तरफ चले गए। आखिरकारी बाद में यह स्कूटर मदनगीर के एफ-ब्लॉक में पाया गया। इसके जरिये पुलिस ने बुजुर्ग महिला, उसकी बेटी और बेटे को गिरफ्तार किया। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि इनके परिवार में 8 लोग हैं और सभी कई क्रिमिनल केस में शामिल रहे हैं।