मुजफ्फरपुर में नाबालिग किशोरी से हैवानियत: घर में घुसकर 4 दरिंदों ने किया गैंगरेप, फिर जला दिया जिंदा


मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर में दिल दहला देने वाली घटना घटी है। एक किशोरी के घर में घुसकर चार युवकों ने पहले गैंगरेप किया, फिर पीड़ित का गला घोंटा। यही नहीं दरिंदगी की हद पार करते हुए आरोपियों ने किरोसिन तेल छिड़क कर उसको जिंदा जला दिया। इसके बाद सबूत मिटाने के लिए किशोरी का जले हुए शव को कहीं ठिकाने भी लगा दिया। मामला साहेबगंज थाना इलाके के एक गांव का है। 16 वर्षीय किशोरी के साथ इस वारदात को अंजाम दिया गया। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।
3 जनवरी की वारदात, करीब 9 दिन बाद दर्ज हुआ मामला
बताया जा रहा कि पूरी घटना 3 जनवरी, 2021 की है। इस मामले में पीड़िता के पिता के आवेदन पर पुलिस ने थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली है। इसमें गांव के ही 4 युवकों गुलशन कुमार, चंचल कुमार,अभिनय कुमार और राजा कुमार को आरोपी बनाया गया है। पीड़िता के पिता ने बताया की वह पंजाब में एक कारखाने में रहकर मजदूरी करते हैं। इसी साल 3 जनवरी को उनकी बड़ी बेटी ने फोन कर पूरी घटना के बारे में बताया। उन्हें जानकारी मिली कि उनकी 16 वर्षीया बेटी को गांव के ही कुछ युवकों ने गैंगरेप के बाद हत्या कर दी। साथ ही आग लगाकर जिंदा जला दिया।
'आरोपियों ने 5 दिसंबर को पीड़िता से रेप का बनाया वीडियो, फिर कर रहे थे ब्लैकमेल'
इस जानकारी के बाद पीड़ित पिता 6 जनवरी को अपने घर पहुंचे। उनकी बड़ी बेटी ने बताया कि 5 दिसंबर 2020 की देर रात गांव के ही दो युवकों गुलशन कुमार और चंचल कुमार ने रेप किया था। इस दौरान उन युवकों ने मोबाइल से अश्लील फोटो और वीडियो बना लिया था। अश्लील वीडियो को वायरल करने और हत्या करने की धमकी देकर बराबर किशोरी के साथ रेप करते थे। जब किशोरी ने इसका विरोध किया तो 3 जनवरी की सुबह में किशोरी को अकेले पाकर घर में घुस गए। पहले जिन दो युवकों ने रेप किया था उनके साथ दो अन्य युवकों अभिनय कुमार और राजा कुमार भी शामिल थे। सभी घर में घुसकर अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। घर के एक कमरे में गैंगरेप के बाद हत्या कर शव को जला दिया। घर में धुआं उठता देख गांव के लोग जमा हुए जब तक कुछ समझ पाते चारों युवक भाग निकले।
पंजाब से 6 जनवरी को पीड़िता के पिता लौटे बिहार, पुलिस में दर्ज कराया मामला
पीड़िता के पिता ने कहा कि वो 6 तारीख को गांव पहुंचे तो गांव के बड़े बुजुर्ग से इस वारदात की पूरी जानकारी मिली। उसके बाद 8 तारीख को थाने में आवेदन दिया गया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इसके बाद थाना अध्यक्ष ने 11 जनवरी को मामले की छानबीन करते हुए प्राथमिक दर्ज की है। पुलिस की ओर से लगातार छापेमारी की जा रही है लेकिन आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।
परिजन बोले- अभी तक शव का नहीं चला है पता
अभी तक हमने बच्ची का दाह संस्कार नहीं किया है। आरोपियों ने शव को कहां छुपाया है कहीं पता नहीं चल पा रहा है। पिता ने पुलिस प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है। एसडीपीओ राजेश वर्मा का कहना है कि आवेदन देने में थोड़ा विलंब हो गया है। जिस तरह से आवेदन दिया गया है उसी अनुसार हम लोग प्राथमिक दर्ज कर दिए हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी जारी है।