बकाया सैलरी नहीं दी तो, 7 जनवरी से एमसीडी में हड़ताल


  • तीनों एमसीडी के कर्मचारियों ने सोमवार को सांकेतिक हड़ताल की
  • एमसीडी की कर्मचारी यूनिनयों ने कहा, सितंबर से बकाया है सैलरी
  • कहा- हड़ताल ही विकल्प, बिना सैलरी गुजारा कर पाना है मुश्किल
नई दिल्ली डेस्क। तीन-चार महीनों से बकाया सैलरी की मांग को लेकर तीनों एमसीडी कर्मचारियों ने सोमवार को सांकेतिक हड़ताल की। नॉर्थ और साउथ एमसीडी कर्मचारियों ने सिविक सेंटर और ईस्ट एमसीडी कर्मचारियों ने पटपड़गंज स्थित एमसीडी मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। कर्मचारी यूनियनों के प्रमुखों का कहना है कि कर्मचारियों की सैलरी सितंबर से ही बकाया है। अगर एक-दो दिनों में बकाया सैलरी रिलीज नहीं की जाती है, तो 7 जनवरी से कर्मचारी पूरी तरह से काम बंद कर हड़ताल करेंगे। कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है कि नॉर्थ और ईस्ट एमसीडी में तो सितंबर से लेकर अबतक सैलरी नहीं मिली है। कर्मचारियों के हालात काफी बुरे हैं। नौकरी करते हुए भी उन्हें परिवार का गुजारा करना मुश्किल हो रहा है। कर्मचारी बकाया सैलरी की मांग को लेकर कई बार मेयर और सीनियर अधिकारियों के सामने अपनी समस्याओं को रख चुके हैं। अधिकारी व मेयर हर बार उन्हें समय पर सैलरी रिलीज करने और बकाया सैलरी के भुगतान का भरोसा देते हैं। लेकिन कभी भी यह पूरा नहीं होता है। कर्मचारियों के पास हड़ताल व प्रदर्शन के अलावा अन्य कोई विकल्प ही नहीं है, इसलिए तीनों एमसीडी कर्मचारियों ने सोमवार को मुख्यालयों पर सांकेतिक प्रदर्शन किया।