यूपी गेट पर आंदोलन कर रहे किसानों ने सड़क को बनाया अखाड़ा, महिलाओं ने लड़ी कुश्‍ती


प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद)। कृषि कानून वापस लिए जाने की मांग को लेकर यूपी गेट बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों का रविवार को 46वां दिन है। ऐसा पहली बार देखने को मिला है जहां यूपी गेट बॉर्डर को ही अखाड़ा बना दिया गया और बीच सड़क पर अच्छी क्वालिटी के गद्दे वाले मैट डालकर भव्य दंगल का आयोजन किया। इस दौरान दूरदराज से आए तमाम युवा दंगल में उतरे। आश्चर्य की बात यह है कि इस दौरान पंजाब से आईं कई महिला खिलाड़ियों ने भी कुश्ती लड़कर आंदोलन में मौजूद किसानों को उत्साहित किया। दंगल में कई जगह के खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया और सभी किसानों ने इस दंगल का लुत्‍फ उठाया। किसान पिछले 46 दिनों से गाजियाबाद के यूपी गेट बॉर्डर पर धरने पर बैठे हुए हैं। हालांकि सरकार और किसानों के बीच तालमेल बैठाए जाने के उद्देश्य से 9 बार आपस में वार्ता हो चुकी है। लेकिन अभी तक किसी तरह का सामंजस्य नहीं बैठ पाया है। उधर किसान अपनी मांग पर अड़े हैं तो वहीं सरकार ने भी साफ तौर पर कहा है कि बिल वापस नहीं होगा। इसमें केवल संशोधन ही किया जा सकता है। लेकिन अब किसानों ने भी यह साफ कर दिया है। कि बिल वापसी नहीं तो घर वापसी नहीं। किसानों ने जहां एक तरफ एक्सप्रेस पेरिफेरियल हाईवे पर हजारों की संख्या में ट्रैक्टर रैली निकालकर सरकार को संदेश दिया कि किसान एकजुट हैं और अपनी बात पर अडिग हैं। साथ ही इस बार किसान 26 जनवरी पर दिल्ली में होने वाली परेड में शामिल होंगे और इसके लिए किसान पूरी तैयारी में जुटे हुए हैं जिसके चलते रविवार को किसानों ने यहां जोरदार दंगल का आयोजन किया है।