पासपोर्ट और रेलवे टिकट की तरह अब तत्काल में ड्राइविंग लाइसेंस भी बनवा सकेंगे लोग, योगी सरकार का बड़ा प्लान


  • योगी सरकार बना रही लोगों को जल्दी ड्राइविंग लाइसेंस दिलवाने की व्यवस्था का प्लान
  • ड्राइविंग लाइसेंस के टाइम स्लॉट ना मिलने के कारण अक्सर होती है परेशानी
  • परिवहन मंत्री ने कहा- जल्द ही प्रस्ताव बनाकर शुरू कराने जा रहे हैं काम
  • पासपोर्ट और रेलवे टिकट की तर्ज पर अब लाइसेंस भी जल्दी देने की तैयारी
गाजियाबाद ब्यूरो। प्रदेश में अब ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) के लिए लोगों को परेशान नहीं होना पड़ेगा, क्योंकि पासपोर्ट और रेलवे टिकट की तरह डीएल भी तत्काल में मिलेगा। इसके लिए जल्द ही प्रस्ताव बनाकर इस दिशा में काम शुरू किया जाएगा। बुधवार को डासना में वाहनों के पहले प्राइवेट फिटनेस सेंटर का लोकार्पण करने आए परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने ड्राइविंग लाइसेंस के टाइम स्लॉट लेने में लोगों को हो रही दिक्कत के सवाल पर यह जानकारी दी।उन्होंने कहा कि इसका विकल्प तत्काल सिस्टम हो सकता है। तत्काल सिस्टम के शुरू होने से जरूरतमंद लोगों को इससे राहत मिल जाएगी। अभी अधिकारी दो लोगों का ड्राइविंग लाइसेंस तत्काल श्रेणी में जाकर बनवा सकते हैं, लेकिन पब्लिक अभी तत्काल में बुकिंग नहीं कर सकती है, लेकिन सिस्टम में बदलाव करके पब्लिक के लिए सीधे तत्काल श्रेणी में डीएल बुक करने की सुविधा शुरू की जाएगी। अभी इसका ड्राफ्ट तैयार नहीं है, लेकिन जल्द ही इस दिशा काम शुरू हो जाएगा।
जल्दी नहीं मिल पाता लाइसेंस
मालूम हो कि ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए पब्लिक को अभी टाइम स्लॉट हासिल करने में बहुत अधिक दिक्कत का सामना करना पड़ता है। जिनको जरूरी होता है, उन्हें जल्दी से टाइम स्लॉट नहीं मिलता है जिसकी वजह से उनका ड्राइविंग लाइसेंस नहीं बन पाता है।
अधिक चार्ज लगने के आसार
अधिकारी बताते हैं कि अभी तो दो तत्काल में कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लगता है, लेकिन जब पब्लिक खुद बुक करेगी तो रेलवे और पासपोर्ट ऑफिस की तरफ से जैसे तत्काल में अधिक चार्ज लिया जाता है वैसे डीएल बनवाने में अतिरिक्त चार्ज की लिए जाने के आसार हैं।
दोनों जगह होगा फिटनेस
परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने बताया कि ट्रायल के तौर पर प्रदेश का पहला प्राइवेट फिटनेस सेंटर खोला गया है। यहां पर कोई भी जाकर अपने वाहन का फिटनेस सर्टिफिकेट ले सकता है। इसके अलावा आरटीओ ऑफिस में पहले की तरह ही यह सुविधा चलती रहेगी। वहां पर ऑनलाइन स्लॉट लिया जाएगा। मैनुअल फिटनेस सर्टिफिकेट दिया जाएगा। यह ट्रायल सफल रहा है तो बाकी जगह पर भी इस तरह की सुविधा शुरू की जाएगी।