केबीसी में अमिताभ बच्चन की पैरवी काम आई, सरकार ने कर दिया कॉन्स्टेबल पत्नी का ट्रांसफर, फिर क्यों नाराज हैं विवेक परमार?


  • केबीसी की हॉट सीट पर पहुंचे कॉन्स्टेबल विवेक परमार की पत्नी का हुआ ट्रांसफर
  • विवेक की कॉन्स्टेबल पत्नी का ग्वालियर से मंदसौर ट्रांसफर किया गया
  • पति-पत्नी की एक ही जिले में पोस्टिंग के लिए अमिताभ बच्चन ने की थी सरकार से अपील
  • सरकार के फैसले से खुश नहीं हैं विवेक, पत्नी का ट्रांसफर रद्द करने की मांग
मंदसौर। केबीसी की हॉट सीट से अमिताभ बच्चन की एक अपील पर मंदसौर के यातायात थाने में पदस्थ कॉन्स्टेबल विवेक परमार की कॉन्स्टेबल पत्नी का ट्रांसफर कर दिया, लेकिन अब उन्होंने सरकारी आदेश वापस लेने की मांग की है। विवेक की समस्या का समाधान करने के लिए प्रदेश सरकार से अपील करने वाले मंदसौर के विधायक ने भी इसे गलत बताया है। विवेक का कहना है कि उन्होंने अपना ट्रांसफर ग्वालियर करने की गुजारिश की थी, लेकिन सरकार ने पत्नी का ट्रांसफर कर दिया जिससे उनके लिए पारिवारिक मुश्किलें बढ़ गई हैं। विवेक का कहना है कि उनके माता-पिता ग्वालियर में रहते हैं जहां फिलहाल उनकी पत्नी की पोस्टिंग थी। पत्नी वहां रहकर बूढ़े माता-पिता की देखभाल भी कर रही थीं। वे खुद मंदसौर में पोस्टेड हैं जहां से ग्वालियर काफी दूर है। अब पत्नी का ट्रांसफर होने के बाद उनके लिए समस्या है कि माता-पिता का ध्यान कैसे रखें। विवेक ने कहा है कि वे अपना ट्रांसफर ग्वालियर चाहते थे जिससे पत्नी के साथ रह सकें और परिवार की देखभाल भी कर सकें। 6 जनवरी को प्रसारित कौन बनेगा करोड़पति के एपिसोड में विवेक परमार हॉट सीट पर पहुंचे थे। विवेक ने 25 लाख रुपये की रकम जीती थी। करीब तीन साल पहले विवेक की शादी प्रीति से हुई थी, लेकिन इसके बाद से पति-पत्नी अलग-अलग जिलों में पदस्थ हैं। विवेक पिछले तीन साल से अपना ट्रांसफर ग्वालियर जिले के आसपास करवाना चाह रहे थे। इस बीच उन्हें केबीसी में जाने का मौका मिला और शो के होस्ट अमिताभ बच्चन ने मध्य प्रदेश सरकार से पति-पत्नी को एक ही जिले में पदस्थ करने की अपील की थी। अमिताभ की अपील मानते हुए सरकार ने उनकी कॉन्स्टेबल पत्नी प्रीति का ट्रांसफर मंदसौर के नारकोटिक्स पुलिस थाना में कर दिया है, लेकिन वे इसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं।