सरकारी गाड़ी पर उल्टा तिरंगा लहराते हुए लखनऊ से देवरिया आए मंत्री लाल बाबू वाल्‍मीकि


देवरिया। उत्तर प्रदेश के देवरिया में लखनऊ से सरकारी गाड़ी से आए दर्जा प्राप्‍त राज्‍यमंत्री लाल बाबू वाल्‍मीकि चर्चा का केंद्र बन गए। यूपी राज्‍य सफाई आयोग के उपाध्‍यक्ष लाल बाबू वाल्‍मीकि की सरकारी गाड़ी पर तिरंगा उल्‍टा लगा हुआ था। इतनी लंबी दूरी तय करके आए और कई कार्यक्रमों में शिरकत करने के दौरान भी राज्‍यमंत्री की नजर इस तिरंगे पर नहीं गई। बता दें कि राज्यमंत्री लाल बाबू वाल्मीकि दो दिवसीय दौरे पर रविवार को देवरिया आए थे। यहां उन्होंने बांसफोड़-भीखमपुर रोड पर एक कार्यक्रम को संबोधित करने के बाद नगर पालिका परिषद का दौरा किया। इसके बाद सोमवार को नगर पालिका स्थित दीनदयाल उपाध्याय सभागार में अधिकारियों और कर्मचारियों संग बैठक की। इस दौरान अपनी सरकारी गाड़ी से वह दो दिनों तक घूमते रहे, लेकिन उनकी नजर झंडे पर नहीं पड़ी। जब किसी ने मंत्री के गाड़ी पर लगे उल्टे झंडे के बारे में बताया, तब मामला प्रकाश में आया। इस बीच, मामला बढ़ता देख मंत्री लाल बाबू वाल्मीकि ने कहा कि वह निरीक्षण पर निकले थे। ऐसा तो नहीं होना चाहिए, लेकिन अगर ऐसा हुआ है तो यह जिम्मेदारी ड्राइवर की है। मंत्री होने के नाते कहना चाहूंगा कि मैं अपने काम पर ध्यान देता हूं ना की ड्राइवर पर। इसके लिए ड्राइवर के खिलाफ कार्रवाई करूंगा। आपको बता दें कि प्रिवेंशन ऑफ इंसल्ट टू नेशनल ऑनर एक्ट,1971 के मुताबिक कोई भी व्यक्ति मौखिक, लिखित या किसी भी रूप में राष्ट्र चिह्नों का अपमान करता है तो उसे तीन साल तक की कैद और जुर्माना या दोनों हो सकता है।