फर्जी आधार कार्ड पर पासपोर्ट बनवाने वाले केएन मोदी इंस्टीट्यूट के एक्जीक्यूटिव अफसर मेघराज गिरफ्तार


प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद)। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पासपोर्ट बनवाने का प्रयास करने वाले नेपाली नागरिक और केएन मोदी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एवं केएनजीडी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मोदीनगर के एग्जीक्यूटिव ऑफिसर मेघराज शर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सीओ एलआईयू की रिपोर्ट के आधार पर मेघराज शर्मा के विरुद्ध थाना मोदीनगर पर धारा 420, 467, 468, 471 और पासपोर्ट अधिनियम के तहत केस दर्ज है। मेघराज शर्मा को भारतीय नागरिकता के विभिन्न पते व जन्मस्थान बदलकर कागजात तैयार करने और पासपोर्ट बनवाने के लिए पत्राचार करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।  राष्ट्रीय मजदूर सभा मोदी तेल पेंट फैक्टरी, मोदी आर्क इलेक्ट्रोड्स कर्मचारी यूनियन, मोदी पेंट एंड वार्निश वर्क्स एंप्लाइज यूनियन द्वारा मेघराज शर्मा के खिलाफ प्रार्थना पत्र दिया गया था। जिसकी जांच सीओ एलआईयू को दी गई थी। जांच में सामने आया है कि पूर्व में भी मेघराज शर्मा दो बार विभिन्न पते बदलकर पासपोर्ट बनवाने के लिए अप्लाई कर चुका है और अब तीसरी बार पासपोर्ट बनाने के लिए अप्लाई किया था, जो पासपोर्ट ऑफिस द्वारा गलत सूचना देने पर निरस्त कर दिया गया। मेघराज शर्मा ने 2009 में  जन्मस्थान दिल्ली दर्शाते हुए पासपोर्ट के लिए अप्लाई किया था और 2018 में जन्मस्थान मिर्जापुर दर्शाते हुए पासपोर्ट के लिए आवेदन किया। वहीं 2020 में जन्मस्थान मोदीनगर दर्शाते हुए आवेदन किया। एसएसपी कलानिधि नैथानी का कहना है कि मेघराज शर्मा वर्तमान में केएनजीडी इंजीनियरिंग कॉलेज हापुड़ रोड मोदीनगर तथा केएन मोदी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं। इनके अन्य दस्तावेजों और क्रियाकलापों की भी जांच की जा रही है। आरोपी नेपाली नागरिक है। उसने तीन बार पासपोर्ट बनवाने का आवेदन किया। तीनों बार जन्मस्थान अलग-अलग दर्शाया। पहले दिल्ली, फिर मिर्जापुर और अब मोदीनगर में बताया जन्मस्थान।