बुलंदशहर में महिला सब इंस्पेक्टर आरजू पवार सूइसाइड मामले में नया मोड़,ट्रेनिंग इंस्‍ट्रक्‍टर पर यौन शोषण के आरोप


  • यूपी के बुलंदशहर में महिला सब इंस्पेक्टर आरजू पवार सूइसाइड मामले में नया मोड़ आ गया है
  • परिजनों की तहरीर पर मुरादाबाद के पीटीआई पर अनूपशहर थाने में यौन शोषण की FIR दर्ज कराई है
  • आरोप लगाया गया है कि पीटीआई ने आरजू पवार को नशीली गोली मिलाकर चाय पिलाई और रेप किया
बुलंदशहर। यूपी के बुलंदशहर में महिला सब इंस्पेक्टर आरजू पवार सूइसाइड मामले में नया मोड़ आ गया है। परिजनों की तहरीर पर मुरादाबाद के फिजिकल ट्रेनिंग इंस्‍ट्रक्‍टर (पीटीआई) पर अनूपशहर थाने में यौन शोषण की एफआईआर दर्ज कराई गई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। अनूपशहर थाने में तैनात महिला सब इंस्पेक्टर आरजू पवार ने 1 जनवरी को अपने किराए के मकान में फांसी लगाकर सुसाइड कर ली थी। जिसके बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। एसएसपी और भारी पुलिस फोर्स ने मौके पर पहुंचकर शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था। पुलिस ने आरजू पवार का मोबाइल लेकर जांच शुरू की थी। अब इस मामले में उनके भाई ने एसएसपी से मिलकर एक शिकायत पत्र दिया था। जिसमें आरोप लगाया है कि मुरादाबाद के पीटीआई उमेश शर्मा राजू पवार के गुरु रहे हैं। उमेश शर्मा रूप से बुलंदशहर के रहने वाले है। उमेश बुलंदशहर आए थे और उन्होंने आरजू पवार को अपने पास मिलने बुलाया था। इसमें आरोप लगाया गया है कि उन्होंने आरजू पवार को नशीली गोली मिलाकर चाय पिलाई और उसके बाद रेप किया। उसका वीडियो बना लिया और उसके बाद आरजू पवार को पीटीआई उमेष शर्मा ब्लैकमेल करते रहे। आरोप है कि पीटीआई आरजू पवार की शादी तोड़ने का भी दबाव बना रहे थे। जिससे परेशान होकर आरजू पवार ने फांसी लगा ली थी। इस मामले में अनूपशहर इंस्पेक्टर राम सेन ने बताया कि आरोपी उमेश शर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच की जा रही है।