गाजियाबाद में देहरादून पब्लिक स्कूल के बाहर अभिभावकों का हंगामा


गाजियाबाद ब्यूरो। देहरादून पब्लिक स्कूल (डीडीपीएस) सेक्टर-23, सजयनगर की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों ने विद्यालय के मुख्यद्वार पर प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कई अभिभावकों की नौकरी चली गई हैं, अधिकतर लोग आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। स्कूल फीस लेने में मनमानी कर रहा है। फीस जमा न करने पर छात्रों को ऑनलाइन कक्षा और परीक्षा से वंचित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन कक्षा के आधार पर स्कूल फीस ले और ऑनलाइन कक्षा एवं परीक्षा देने से छात्रों को वंचित न किया जाए। यदि स्कूल मनमानी करता है तो बेमियादी धरना दिया जाएगा। सोमवार को काफी संख्या में अभिभावक संजयनगर सेक्टर-23 स्थित देहरादून पब्लिक स्कूल पर ‘जनशक्ति एक आवाज, व्यापार मंडल सेक्टर-23’ एवं ‘गाजियाबाद पैरेंट्स एसोसिएशन’ के नेतृत्व में एकजुट हुए और स्कूल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। अभिभावकों ने मांग की है कि लॉकडाउन के दौरान (अप्रैल, मई, जून) की फीस पूर्ण रूप से माफ की जाए एवं पिछले 10 माह से बंद स्कूल द्वारा ऑनलाइन क्लास के आधार पर फीस निर्धारित की जाए। अभिभावकों ने बताया कि स्कूल द्वारा पूरी फीस मांगी जा रही है। जबकि स्कूल द्वारा केवल ऑनलाइन क्लास दी गई है। स्कूल द्वारा आर्थिक रूप से परेशान अभिभावकों के बच्चों की ऑनलाइन क्लास बंद कर दी गई है और बच्चों को परीक्षा से वंचित किया जा रहा है। इतना ही नहीं स्कूल पर प्रदर्शन करने पर एफआईआर करने की धमकी दी जा रही है। अभिभावकों का कहना है कि स्कूल ने मांगें नहीं मानीं तो मंगलवार को 10 बजे स्कूल के गेट पर बेमियादी धरना दिया जाएगा। इस मौके पर तेजवीर मान, स्वास्थ्य कांत शर्मा, माया चौधरी, पूनम कुमारी, जनशक्ति एक आवाज के संस्थापक पंडित हरीश शर्मा, संजय नगर व्यापार मंडल के अध्यक्ष विपिन गोयल आदि मौजूद रहे।