जाली नोट बनाने वाले गिरोह को मुंबई क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार


जमशिद वाच्छा,(मुंबई)। नोटबंदी के बाद नए नोटों को चलन में लाकर अर्थव्यवस्था को खतरे में डालने की कोशिश की जा रही है।क्राइम ब्रांच को उसके वरिष्ठों ने उन गिरोह की जांच करने के लिए निर्देशित किया था जो ऐसे नकली नोट बना रहे थे और उन्हें प्रचलन में ला रहे थे।क्राइम डिटेक्शन स्क्वॉड यूनिट 7 इस तरह से गिरोह का पीछा कर रही थी।मिली जानकारी के अनुसार यूनिट 7 के पुलिस इंस्पेक्टर मनीष श्रीधनकर और उनकी टीम ने 26/201/2021 को प्रवीण होटल ईस्ट एक्सप्रेसवे विक्रोली मुंबई में यह पता चला कि दो इसम भारतीय चलन के नकली नोट लेकरं आनेवाले है।दो इसम 12:30 बजे आकर पहुंचे, तो अपराध का पता लगाने वाली टीम ने दोनों को दबोच लिया और उन्हें हिरासत में ले लिया। उन्होंने दो लाख ऐंशी हजार रुपये के नकली नोट भी जब्त किए।गहन जांच करते हुए, उसके दो साथी अभी भी फरार हैं और आरोपी ने कहा कि वह वाडा जिला पालघर में अपने निवास पर नकली नोट छाप रहे थे।आरोपी के घर की तलाशी से भारतीय मुद्रा नोटों में 35,54,000 / - रु के साथ ही नकली नोट छापने की सभी सामग्री मिली। यूनिट 7 क्राइम ब्रांच की एक टीम जांच कर रही है।संयुक्त पुलिस आयुक्त मिलिंद भारंबे के मार्गदर्शन में, ऊपरी पुलिस आयुक्त वीरेश प्रभु, सहायक पुलिस आयुक्त सिद्धार्थ शिंदे, क्राइम ब्रांच यूनिट 7 की एक टीम ने इंस्पेक्टर मनीष श्रीशंकर के नेतृत्व में यह सफल प्रदर्शन किया।