सात साल से थाने में जब्त पड़ी थी ढाई करोड़ की शराब, यूं कराई गई नष्ट


मेरठ। मेरठ के थाना परतापुर में पिछले 7 सालों तक की ज़ब्त शराब को थाना पुलिस ने नष्ट कर दिया। इसकी कीमत लगभग ढाई करोड़ से ज्यादा बताई जा रही है। ये शराब का भंडार थाने के 5 कमरों में पिछले 7 सालों से ज़ब्त हुआ पड़ा था। इसके निस्तारण के लिए थाना पुलिस ने कई बार कोशिश की, लेकिन हर बार निराशा हाथ लगने के बाद अंत में सीजेएम की अदालत में शराब को नष्ट करने के आदेश दिए, जिसके बाद थाना पुलिस ने शराब की 8 हज़ार पेटियों को नष्ट कर दिया। मेरठ के थाना परतापुर क्षेत्र में 2013 से लेकर 2020 तक कि लगभग 7 सालों से ज़ब्त अवैध शराब कि लगभग 8 हज़ार पेटियां जिसमें लगभग 2.67 करोड़ रुपए की शराब बताई जा रही थी, उसको नष्ट कर दिया गया है। इस शराब के ज़खीरे को स्टोर करने में थाने का बहुत बड़ा हिस्सा इस्तेमाल में आता था, जिससे थाने की कार्यवाही भी बाधित होती थी। लगभग थाने के 5 कमरों में इस भंडार को जमा किया गया था। इसको नष्ट करने के लिए परतापुर थाना पुलिस कई बार प्रसाशन से अर्ज़ी लगा चुकी थी लेकिन अब जाकर मेरठ सीजीएम की अदालत ने शनिवार को शराब के जखीरे को नष्ट करने के आदेश दिए। इसके बाद रविवार को थाना पुलिस शराब के तमाम जखीरे को इकट्ठा कर पहले कताई मिल ले गई। यहां उसको जेसीबी मशीन से कुचलवाया और फिर 30 फिट का गड्ढा करके उसको दबा दिया गया। परतापुर एएसपी किशन कुमार विश्नोई ने बताया थाना पुलिस कई बार इसके निस्तारण की कोशिश कर चुकी थी।