फजीहत के बाद जागी बीजेपी, शाहीन बाग में गोली चलाने वाले कपिल गुर्जर की सदस्यता रद्द


  • शाहीन बाग में फायरिंग करने वाले कपिल गुर्जर की बीजेपी ने रद्द की मेंबरशिप
  • बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा, कपिल गुर्जर की सदस्यता अमान्य
  • गाजियाबाद बीजेपी की सफाई, गलती से शामिल हुआ गुर्जर, नहीं थी मामले की जानकारी
प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद)। केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान शाहीन बाग इलाके में फायरिंग करने वाले कपिल गुर्जर के बीजेपी में शामिल होने के बाद पार्टी की जमकर फजीहत हुई है। विपक्षी दलों के अलावा सोशल मीडिया पर भी लोगों ने गुर्जर के बीजेपी में शामिल होने के बाद पार्टी को निशाने पर लेना शुरू कर दिया था। हालांकि, आनन-फानन में बीजेपी ने बुधवार को गुर्जर से अपना पीछा छुड़ा लिया। बीजेपी ने कपिल गुर्जर की सदस्यता को अमान्य करार दिया है। बीजेपी के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, 'गाजियाबाद के कपिल गुर्जर की विचारधारा बीजेपी के अनुरूप नहीं है। उनकी सदस्यता को भारतीय जनता पार्टी द्वारा अमान्य करार दिया जाता है।' गुर्जर ने गाजियाबाद में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की थी, जिसके बाद से सोशल मीडिया पर यह खबर वायरल हो गई। बुधवार को गुर्जर की सदस्यता को अमान्य घोषित किए जाने के बाद बीजेपी के गाजियाबाद प्रभारी संजीव शर्मा ने मामले पर अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि गाजियाबाद महानगर कार्यालय पर बीएसपी छोड़कर आए कुछ युवा कार्यकर्ताओं को बीजेपी में शामिल करवाया गया, इसमें कुछ व्यक्तियों के साथ कपिल गुर्जर भी शामिल था। हमें उसके विवादित शाहीन बाग मामले की जानकारी नहीं थी। शर्मा ने आगे कहा कि घटना की पूर्ण जानकारी होने के बाद प्रदेश नेतृत्व के द्वारा कपिल गुर्जर का पार्टी में शामिल किया जाना तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया। बता दें कि साल की शुरुआत में शाहीन बाग इलाके में नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के दौरान गुर्जर ने हवाई फायरिंग की थी। बाद में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। गुर्जर को 25 हजार के निजी मुचलके पर जमानत दी गई थी। घटना के दौरान गुर्जर का संबंध आम आदमी पार्टी से जोड़ा गया था।