तमिलनाडु के मेडिकल छात्रों ने की थी गर्लफ्रेंड की साइबरबुलिंग, युवक को सारे मेडिकोज से हुई नफरत, चुराने लगा लैपटॉप


राजकोट। तमिलनाडु के चेन्नै में पढ़ने के दौरान एक युवक की गर्लफ्रेंड के साथ कुछ मेडिकल छात्रों ने साइबरबुलिंग की थी। इस घटना के बाद युवक के मन में इतनी कड़वाहट भर गई कि उसने देश के विभिन्न मेडिकल संस्थानों में पढ़ने वाले मेडिकल छात्रों से बदला लेने की ठानी। इसके लिए उसने अलग तरीका अपनाया। उसने छात्रों के गैजेट्स लैपटॉप को चुराना शुरू कर दिया। बुधवार को, जामनगर पुलिस भी चकित हो गई जब उन्होंने 24 वर्षीय लैपटॉप चोर तमिलसेलवन कन्नन को गिरफ्तार कर लिया। कन्नन ने 2015 से देश भर के कई मेडिकल कॉलेज हॉस्टलों से कम से कम 500 लैपटॉप चोरी करने की बात कबूल की।
गर्ल्स हॉस्टल में चोरी हुए थे लैपटॉप
पिछले साल 26 दिसंबर को गुजरात के जामनगर स्थित एमपी शाह मेडिकल कॉलेज के गर्ल्स हॉस्टल के एक कमरे से छह लैपटॉप चोरी हो गए थे। पुलिस ने इसी मामले की जांच शुरू की और तमिलसेलवन को पकड़ा।
गर्लफ्रेंड का बनाया था आपत्तिजनक वीडियो
केएल गढे, निरीक्षक, बी-डिवीजन पुलिस स्टेशन, जामनगर ने कहा कि 2015 में चेन्नै के कुछ मेडिकल छात्रों ने आरोपी की प्रेमिका का आपत्तिजनक वीडियो रिकॉर्ड किया था और उसे वायरल कर दिया था। इस घटना के बाद युवक के अंदर मेडिकल छात्रों के खिलाफ कड़वाहट से भर गई।तमिलसेल्वन इंटरनेट पर मेडिकल कॉलेजों के नाम और पते खोजता और फिर उन्हें निशाना बनाता। वह मेडिकल छात्रों के मोबाइल की जगह लैपटॉप चोरी करता क्योंकि उन्हें बेचना आसान होता और पकड़े जाने का ज्यादा रिस्क नहीं था।
दक्षिण भारत के मेडिकल कॉलेजों को बनाया निशाना
उसने दक्षिण भारत के कॉलेजों को निशाना बनाना शुरू किया और उसके बाद फरीदाबाद के पास भंकरी गांव में शिफ्ट हो गया। यहां से उसने उत्तर भारत के मेडिकल कॉलेज के छात्रावासों में जाना शुरू कर दिया।
जामनगर में की पहली चोरी और पकड़ा गया
जामनगर गुजरात में उसकी यह पहली चोरी थी। वह दिसंबर में शहर पहुंचा और अनुपम सिनेमा के पास एक होटल में रुका और उसने गर्ल्स हॉस्टल की रेकी की। किसी तरह, वह एक कमरे की चाबी खोजने में कामयाब रहा और 26 दिसंबर को लैपटॉप चुरा लिया।