गाजियाबाद पुलिस : नमस्ते करो, ड्यूटी बदलवाओ! पुलिस वॉट्सऐप ग्रुप की चैट वायरल, गाजियाबाद पुलिस की किरकिरी


गाजियाबाद ब्यूरो। एक तरफ गाजियाबाद के एसएसपी अपना एक साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद पुलिसिंग व्यवस्था और आपस में सभी का तालमेल बना रहने का दावा कर रहे हैं। तो वहीं गाजियाबाद में एक ऐसी वॉट्सऐप चैट वायरल हो रही है, जिसमें आपस में पुलिस कर्मियों की तनातनी नजर आ रही है। यह तनातनी किसी और बात पर नहीं बल्कि ड्यूटी लगाने पर हो रही है। थाना सिहानी गेट इलाके में यह मामला सामने आया। इसके बाद घंटाघर कोतवाली में भी इस तरह का मामला सामने आया है। इसका मतलब साफ तौर पर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुलिसकर्मियों में आपस में तालमेल ठीक नहीं है। यदि तालमेल ठीक नहीं होगा तो कार्यशैली पर भी खासा प्रभाव पड़ेगा।
वॉट्सऐप चैट सोशल मीडिया पर हो रही वायरल
सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस चैट के अनुसार थाना सिहानी गेट थाने में तैनात एक कॉन्स्टेबल की ओर से बिना नमस्ते किए ड्यूटी नहीं लगाने की बात लिखी गई है । उसने 2 सप्ताह लगातार नाइट ड्यूटी लगाने पर आपत्ति दर्ज की है। साथ ही ड्यूटी में उसी पर कई तरह के इस चैट में सवाल उठाए गए हैं । वहीं दूसरी तरफ एक और कॉन्स्टेल ने भी उसी ग्रुप पर लिखा है कि 4 सप्ताह से वह नाइट ड्यूटी पर है। लेकिन ड्यूटी मुंशी का कहना है कि बगैर नमस्ते के दिन की ड्यूटी नहीं लगेगी। इसके अलावा दारोगा समेत अन्य पुलिसकर्मियों ने भी ड्यूटी लगाने को लेकर इस तरह के आरोप लगाए हैं। इनके अलावा अन्य पुलिसकर्मियों ने भी उसी ग्रुप में कई तरह के कमेंट किए हैं।
दो थानों के मामले आए हैं सामने
दूसरी तरफ घंटाघर कोतवाली का भी एक मामला सामने आया है। कोतवाली नवयुग मार्केट के चौकी इंचार्ज धर्मेंद्र लांबा और संतोष की वापस ड्यूटी नहीं करने की बात कही गई है। इस पर भी कई पुलिसकर्मियों ने कमेंट किए हैं। चैट का स्क्रीनशॉट लगातार सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। यानी कई तरह के सवाल अब पुलिस के तालमेल पर भी खड़े हो गए हैं ।नमस्ते करने का मतलब साफ है कि कहीं ना कहीं ड्यूटी लगाने वाले मुंशी को चढ़ावा चाहिए। बहरहाल इस पूरे मामले में पुलिस का कोई भी आला अधिकारी कुछ भी कहने को तैयार नहीं है। लेकिन जिस तरह से यह चैट वायरल हो रही है, उससे पुलिस की किरकिरी खूब हो रही है।