न्यू उस्मानपुर थाना इलाके में नाबालिग भाई-बहन को किडनैप कर 20 घंटे किया दुष्कर्म


  • शास्त्री पार्क इलाके के एक पार्क के सामने खेल रहे दोनों भाई-बहन को वह ऑटो में ले गया था
  • बच्चों के चिल्लाने पर आरोपी ने बच्चों को पीटा, उन्हें भूखा रखा गया
  • दोनों मासूमों की हालत खतरे से बाहर, लेकिन वे सदमे में हैं
  • मुलजिम की गलत हरकतों की वजह से उसकी पत्नी और बच्चे अलग रहते हैंं
सुनील कुमार,(दिल्ली ब्यूरो)। नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के न्यू उस्मानपुर थाना इलाके में पांच साल की बहन और आठ साल के भाई को अगवा कर करीब 20 घंटे तक दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। बच्चों के शोर मचाने पर आरोपी ने उनके साथ मारपीट भी की। मासूम भाई-बहन को भूखा रखा गया। आरोपी ऑटो ड्राइवर है। शास्त्री पार्क इलाके के एक पार्क के सामने खेल रहे दोनों भाई-बहन को वह ऑटो में ले गया था।
आरोपी ने अपने घर पर किया यौन शोषण
नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के डीसीपी वेदप्रकाश सूर्या ने बताया कि आरोपी ऑटो ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसका नाम शिव कुमार (46) है। डीसीपी ने बताया कि आरोपी बच्चों को ऑटो में बैठाकर अपने घर ले गया था। उसने अपने घर पर बच्चों के साथ यौन शोषण किया। जांच में पता लगा है कि मुलजिम की गलत हरकतों की वजह से उसकी पत्नी और बच्चे अलग रहते हैं।
पार्क में खेल रहे थे भाई-बहन
पुलिस ने बताया कि वारदात की शुरुआत 23 जनवरी को थाना न्यू उस्मानपुर इलाके से हुई। दोनों भाई-बहन एक पार्क के सामने खेल रहे थे। आरोपी ऑटो लेकर वहां पहुंचा। उसने बच्चों को टारगेट कर लिया। फिर कुछ देर तक वहीं खड़ा होकर देखता रहा कि कोई बच्चों पर नजर बनाए तो नहीं है। उसे लग गया कि बच्चे घर से थोड़ा दूर खेल रहे हैं, तो वह टॉफी और खाने-पीने की कुछ चीजें लेकर बच्चों के पास पहुंचा। उन्हें खाने-पीने का लालच देकर अपने ऑटो में बैठाकर घर ले आया।
करीब 20 घंटे तक चंगुल में रहे दोनों बच्चे
घर पर उसने करीब 20 घंटे तक दोनों भाई-बहन को रखा। इस दौरान, उसने कई बार बच्चों के साथ दुष्कर्म किया। बच्चों के शोर मचाने पर उन्हें मारा-पीटा और उन्हें भूखा रखा। दोनों बच्चे बुरी हालत में पहुंचने लगे तो अगले दिन रात को दोनों को लेकर फिर उसी इलाके के पास पहुंच गया, जहां से उसने उन्हें उठाया था। दोनों बच्चों को छोड़कर भाग गया।
100 सीसीटीवी कैमरे खंगाल आरोपी तक पहुंची पुलिस
बच्चों के परिजनों ने न्यू उस्मानपुर में बच्चों के गायब होने की शिकायत दी। पुलिस का कहना है कि बच्चों के लापता होने की रिपोर्ट लिखकर बच्चों को ढूंढा जा रहा था। बच्चे घर पहुंचे, तो परिजनों को पता लगा कि उनके साथ दुष्कर्म हुआ है। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस का दावा है कि करीब 100 सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए। किसी तरह वारदात में इस्तेमाल ऑटो की पहचान की गई। पुलिस 12 दिन बाद आरोपी को पकड़ने में कामयाब हो पाई।