पपला गुर्जर कांड: हथियारों के साथ पकड़े गये 24 बदमाश, कोर्ट ने 2 अप्रैल तक जेल भेजा


  • हरियाणा और राजस्थान के 24 बदमाश सोमवार को हिरासत में लिये गये थे।
  • इन सब को पपला गुर्जर को जेल में शिफ्ट करते समय सुरक्षा घेर में घुसने पर पकड़ा गया था।
  • मंगलवार को गिरफ्तार बदमाशों को कोर्ट ने 2 अप्रैल तक जेल भेज दिया।
अलवर। राजस्थान के अलवर जिले के खैरथल थाना पुलिस ने पपला के सुरक्षा में सेंध लगाने और पुलिस के कारकेट यानी सुरक्षा घेरे को तोड़ने का मामले में 24 बदमाशों को कोर्ट ने 2 अप्रैल तक जेल भेज दिया है। ये बदमाश खैरथल में किन्नरों में बधाई मांगने के क्षेत्राधिकार विवाद में एक पक्ष को जबरन कब्जा दिलाने के लिए सुपारी देकर बुलाये गए थे। जिन्हें पपला गुर्जर को छुड़वाने आये गैंग के बदमाशों की सूचना पर पुलिस ने पकड़ लिया था। पुलिस ने किन्नरों पर हमला करने आये 24 बदमाशों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से हथियार बरामद किए हैं। पकड़े गये बदमाशों में बहरोड़ पुलिस थाने के हिस्ट्रीशीटर संजय उर्फ बचिया सहित इसके 5 साथियों पर बहरोड थाने में हत्या के प्रयास के मुकदमे चल रहे हैं जिनमें यह वांटेड हैं। यह आरोपी उस वक्त गिरफ्त में आए जब 5 लाख के कुख्यात बदमाश पपला गुर्जर को किशनगढ़ बास उप कारागृह में लाया जा रहा था। जब इन बदमाशों के वाहन पुलिस के काफिले में प्रवेश कर गए। भिवाड़ी के पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी ने बताया कि 15 फरवरी को कुख्यात बदमाश पपला गुर्जर को भारी पुलिस जाब्ते के बीच उप कारागृह किशनगढ़ बास में दाखिल कराने के बाद सूचना मिली कि खैरथल में हरियाणा और राजस्थान रजिस्ट्रेशन नंबर के 5- 6 वाहनों में कुछ अज्ञात बदमाश हो सकते हैं। इसकी सूचना पर खिरगची टोल नाका किशनगढ़ रोड पर नाकेबंदी शुरू की गई। एक पुलिस टीम सादा कपड़ों में तलाशी के लिये रवाना की गई। नाकेबंदी के दौरान 4 वाहनों को रोककर तलाशी ली गई तो चारों वाहनों में लोहे की रॉड, बांस की लाठियां, धारदार गुप्ति औ चाकू मिले। 
वाहनों में बैठे 24 बदमाशों से पूछताछ की गई जो सभी बदमाश हरियाणा प्रांत के बल्लभगढ़ अटेली मंडी, दिल्ली, बहरोड़ और नीमराना के पाए गए। बदमाशों से पूछताछ करने के बाद यह बात सामने आई कि खेरथल निवासी संजना किन्नर और भिवाड़ी निवासी सीमा किन्नर के मध्य बधाई विवाद को लेकर सभी बदमाश भिवाड़ी जा रहे थे। इस विवाद में संजना किन्नर को कब्जा दिलवाने टपूकड़ा, भिवाड़ी जाने से पहले 2 दिन पूर्व रेकी की गई थी। इन बदमाशों के बारे में संबंधित थानों से अपराधों की जानकारी की गई तो संजय उर्फ बचियां सहित छह बदमाश पुलिस थाना बहरोड में हत्या के प्रयास प्रकरण में वांछित पाये गये। अन्य कई बदमाशों के विरुद्ध भी गंभीर प्रकरण विभिन्न थानों में दर्ज हैं। सीमा किन्नर की ओर से पेश रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए इन सभी बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। किशनगढ़बास डीएसपी ने बताया कि इस मामले में बहरोड़ के संजय, अमित, जितेंद्र, रमाकांत ,अविनाश, अमित, अजीत, विकास, अंकित, भूपेश संजय यादव ,खैरथल निवासी साहून बहरोड़ निवासी अनिल कुमार यादव, नीमराणा निवासी दीपक कुमार यादव बहरोड़ निवासी राहुल, मुकेश एवं हरियाणा निवासी अशोक कुमार, संजय, बलराम, कृष्ण कुमार, सुमेर सिंह, विकास और दिल्ली निवासी अक्कू और अरविंद को गिरफ्तार किया है। इस मामले में संजना किन्नर बहरोड के दारा सिंह एवं सत्तन पहलवान फरार चल रहे हैं। जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। इनके कब्जे से चार वाहनों को जप्त किया गया है। आरोपी संजय यादव के खिलाफ 12 मुकदमें, अजीत के खिलाफ 10 मुकदमें, आरोपी अविनाश के खिलाफ तीन मुकदमे ,जितेंद्र के खिलाफ भी तीन मुकदमे, भूपेश के खिलाफ दो मुकदमे ,राहुल के खिलाफ दो मुकदमे रमाकांत के खिलाफ दो मुकदमे, अमित एवम के खिलाफ एक- एक मुकदमा दर्ज है।
पुलिस उपाअधीक्षक ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर संजय अपने बदमाश साथियों के साथ एनसीआर क्षेत्र में रंगदारी और कब्जे छुड़वाने की वारदातों को अंजाम देता है। उल्लेखनीय है कि कि 15 फरवरी को पपला गुर्जर को जेल ले जा रहे पुलिस काफिले के बीच इन बदमाशों का काफिले की गाड़ियां घुस गई थी। इसके बाद पुलिस की काफी किरकिरी हुई। क्योंकि पुलिस भारी सुरक्षा के बीच करीब दो दर्जन वाहनों में पपला गुर्जर को लेकर जा रहे थे। उसी दौरान बदमाशों के वाहन उस काफिले में प्रवेश कर गए, जो सबसे बड़ी चूक मानी जा रही थी, क्योंकि पपला गुर्जर पूर्व में भी दो बार पुलिस के कब्जे से ही फरार कराया जा चुका है।