26 जनवरी हिंसा के राज खोलेगा दीप सिद्धू? पुलिस को 7 दिन की मिली रिमांड


  • लाल किले में हिंसा के मुख्य आरोपी दीप सिद्धू को 7 दिन की पुलिस रिमांड
  • उसकी भूमिका की जांच करेगी पुलिस, कई राज आ सकते हैं बाहर
  • दिल्ली पुलिस ने अदालत से 10 दिन की रिमांड मांगी थी
नई दिल्ली ब्यूरो। 26 जनवरी को लाल किले पर हुई हिंसा और उपद्रव के मुख्‍य आरोपी दीप सिद्धू को कोर्ट ने 7 दिनों की पुलिस रिमांड में भेज दिया है। उसे दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था। वह किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले के प्राचीर पर झंडा फहराने का आरोपी है। घटना के बाद से ही दीप सिद्धू फरार चल रहा था। दिल्ली पुलिस ने अदालत से 10 दिन की पुलिस रिमांड मांगी थी, पर उसे 7 दिन की ही मिली। सिद्धू पर दिल्‍ली पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम भी रखा था। फरार होने के बावजूद सिद्धू फेसबुक के जरिए लगातार वीडियो मेसेज जारी कर रहा था। दिल्‍ली पुलिस ने पिछले दिनों दावा किया था कि वह अपनी एक करीबी मित्र के जरिए सोशल मीडिया पर वीडियो डाल रहा था। पंजाबी फिल्मों के एक्टर दीप सिद्धू को पकड़ने के लिए दिल्ली पुलिस की टीमें पंजाब में कई जगह दबिश दे रही थीं। वह अपने फेसबुक पर वीडियोज अपलोड कर रहा था जिसमें पंजाबी में बात करते हुए खुद को निर्दोष बताता था। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि केंद्र के नए कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस पर किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’ के दौरान लाल किले में हुई हिंसा की घटना में वांछित अभिनेता-कार्यकर्ता दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस उपायुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) संजीव कुमार यादव ने कहा कि दिल्ली पुलिस की विशेष सेल ने यह गिरफ्तारी की। सिद्धू को सोमवार रात 10 बजकर 40 मिनट पर करनाल बाइपास से गिरफ्तार किया गया। गणतंत्र दिवस पर लाल किले में भीड़ को उकसाने के संबंध में दर्ज एक मामले में उसकी तलाश थी। डीसीपी ने कहा, ‘अपराध शाखा उसकी भूमिका की विस्तार से जांच करेगी।’ यह पूछे जाने पर कि 26 जनवरी के बाद से वह कहां छिपा था, यादव ने कहा कि जांच अभी शुरुआती चरण में हैं। गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में 500 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए थे और एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। पुलिस सूत्रों ने बताया,‘सिद्धू एक महिला मित्र के साथ संपर्क में था जो कैलिफोर्निया में रहती है। वह वीडियो बना कर उसे भेजता था और वह सिद्धू के फेसबुक अकाउंट पर उन्हें अपलोड करती थी।’ उन्होंने बताया कि गिरफ्तारी से बचने के लिए सिद्धू लगातार ठिकाना बदल रहा था।