संजीत कांड से भी कानपुर पुलिस ने नहीं लिया सबक, 3 दिन से लापता शख्स, छुट्टी पर चले गए विवेचक


कानपुर ब्यूरो। कानपुर पुलिस अपने कारनामों की वजह से हमेशा सुखियों में रहती है। संजीत हत्याकांड से भी जिले की होनहार पुलिस सबक नहीं ले रही है। ऐसा ही एक और मामला सामने आया है। पिछले तीन दिनों से फोटोकॉपी शॉप मालिक लापता है। परिवार के सदस्य गुमशुदगी दर्ज कराने पहुंचे। आरोप है कि पुलिस ने कहा कि लापता होने के 24 घंटे बीत जाने के बाद गुमशुदगी दर्ज की जाएगी। किसी तरह से परिवार ने डीआईजी से गुहार लगाई तब जाकर गुमशुदगी दर्ज की गई। तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस मदद नहीं कर रही है। फीलखाना थाना क्षेत्र स्थित भूसाटोली दौलतगंज में रहने वाले श्रीकांत त्रिवेदी की मॉलरोड एलआईसी बिल्डिंग में फोटोकॉपी की शॉप है। श्रीकांत त्रिवेदी के परिवार में पत्नी रंजना त्रिवेदी, बड़े बेटे तुषार और छोटे बेटे ध्रुव हैं। श्रीकांत त्रिवेदी बीते शनिवार को शॉप में खाना-खाने के बाद टहलने के लिए निकले थे। इसके बाद वह दोबारा नहीं लौटे। श्रीकांत का मोबाइल शॉप में ही चार्जिंग पर लगा हुआ था। देर शाम तक जब श्रीकांत नहीं लौटे तो परिवारवालों ने उनकी तलाश शुरू की, लेकिन उनका कहीं पता नहीं चला। श्रीकांत त्रिवेदी के बेटे तुषार ने बताया, 'शनिवार से पिता लापता हैं। मैंने परिवार के साथ मिलकर उनकी तलाश की। जब नहीं मिले तो मैं फीलखाना थाने गुमशुदगी दर्ज कराने के लिए पहुंचा। पुलिस ने कहा कि लापता होने के 24 घंटे बाद आना तब गुमशुदगी दर्ज की जाएगी। किसी तरह से डीआईजी से अपील की गई, तब जाकर गुमशुदगी दर्ज हुई। गुमशुदगी दर्ज होने के बाद भी पुलिस किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर रही है। जब थाने जाकर पूछा जाता है कि क्या कार्रवाई चल रही है, तो पुलिस टरका देती है। यह बताया गया कि आईओ (विवेचक) छुट्टी पर चले गए हैं।'
पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप
तुषार त्रिवेदी ने बताया, 'कानपुर सेंट्रल स्टेशन सीसीटीवी लगे हैं। जीआरपी की मदद से उन सीसीटीवी को खंगाला गया लेकिन कुछ भी हाथ नहीं लगा।' तुषार ने बताया कि जहां पर फोटोकॉपी की शॉप है, उसका किराया 32 हजार रुपये महीना है। इसको लेकर पिता परेशान रहते थे। शॉप मालिक प्रतिदिन 500 से एक हजार रुपए लेता था। इसकी वजह से वह तनाव में रहते थे। तुषार का मानना है कि कहीं पिता के साथ किसी तरह की अनहोनी ना हो गई हो। फीलखाना इन्स्पेक्टर सतीश साहू के मुताबिक, श्रीकांत त्रिवेदी की गुमशुदगी दर्ज है। श्रीकांत के बेटे ने एक लेटर सौंपा है, जिसमें लिखा है कि किन परिस्थितियों में घर छोड़ रहा हूं। फिलहाल पुलिस उनकी तलाश में लगी है।