422 बलेनो कार और 100 सीसीटीवी कैमरों की पड़ताल, यूपी में अगवा हुए बिजनसमैन को पुलिस ढूंढा


बुलंदशहर। यूपी के बुलंदशहर में पुलिस ने टाइल्स व्यापारी की किडनैपिंग के मामले का खुलासा करते हुए 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने अपहृत व्यापारी को सकुशल बरामद किया है और अब किडनैपिंग में शामिल लोगों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, अपहरणकर्ताओं का पता लगाने के लिए पुलिस टीमों ने 422 बलेनो कार और 100 से अधिक सीसीटीवी फुटेज की कुंडली खंगाली है। इसके बाद पुलिस ने किडनैपिंग में इस्तेमाल की गई नीले रंग की कार भी बरामद कर ली है। दरअसल, एक फरवरी की दोपहर टाइल्स व्यापारी गौरव का नीली रंग की बलेनो कार सवार बदमाशों ने उस समय अपहरण कर लिया था। घटना उस वक्त हुई जब वह अपने घर से कुछ दूरी पर खड़ा हुए थे। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद हरकत में आई पुलिस ने गौरव की तलाश शुरू की। बुधवार की देर रात करीब दो बजे गौरव को बुलंदशहर कोतवाली देहात की इंद्रानगर कालोनी स्थित एक मकान से बरामद कर लिया।
आरटीओ ने दी 422 कारों की डिटेल्स
एसएसपी बुलंदशहर के मुताबिक किडनैपिंग की यह वारदात घटना स्थल से कुछ दूरी पर लगे एक सीसीटीवी में कैद हो गयी थी। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरटीओ कार्यालय से नीले रंग की सभी 422 बलेनो कारों की डिटेल ली गई और घटना वाले दिन की करीब 100 से अधिक सीसीटीवी फुटेज की जांच कराई। इसके बादअपहरण में इस्तेमाल की गई बलेनो कार पकड़ में आई। कार की पहचान छिपाने के लिए किडनैपर्स ने कार को थोड़ा मोडिफाई भी करवा लिया था।
ड्राइवर की निशानदेही पर किया बरामद
पुलिस ने कार के ड्राइवर की निशानदेही पर टाइल्स व्यापारी गौरव को बुलंदशहर की इंद्रानगर कालोनी से बरामद कर लिया। एसएसपी का यह भी दावा है कि गौरव का पड़ोसी किडनैपिंग का मास्टरमाइंड था, जो किडनैपिंग के बाद गौरव की तलाश में जुटकर पीड़ित परिवार से झूठी हमदर्दी भी दिखा रहा था।