महज 50 हजार की फिरौती के लिए मासूम का मर्डर, पुलिस पर सवाल


वाराणसी। उत्तर प्रदेश में उत्तम कानून-व्यवस्था के सरकारी दावों पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। वाराणसी में बदमाशों ने अपहरण के बाद मासूम की हत्या कर शव को खेत मे फेंक दिया। बताते चलें कि बदमाशों ने मासूम के अपहरण के बाद पत्र भेजकर परिवारवालों से 50 हजार की फिरौती मांगी थी। जानकारी के मुताबिक, वाराणसी के सारनाथ थाना क्षेत्र के पैगम्बरपुर के रहने वाले मंजे कुमार के 9 साल का बेटा विशाल 29 जनवरी को बदमाशों ने अपहरण किया था। उसके बाद बदमाशों ने पत्र भेजकर 50 हजार की फिरौती मांगी। घटना के बाद परिवारवालों ने इसकी शिकायत सारनाथ थाने में की थी लेकिन तब पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया, जो अब मासूम के हत्या का वजह बना। मंजे कुमार के घर में मिले पत्र में बदमाशों ने लिखा था, 'आप लोग परेशान मत होइए, आपका लड़का हमारे पास है। 50 हजार दीजिए और लड़का ले जाइए। 1 घंटे में पैसे नहीं मिले तो लड़के को मार देंगे। हमारे पास मोबाइल नहीं है। मंजे को पैसा देकर अकेले चौबेपुर रोड पर भेजो नहीं तो लड़के को मार देंगे।' वाराणसी में मासूम के अपहरण और फिर फिरौती न मिलने के कारण हत्या मामले में सारनाथ पुलिस भी सवालों के घेरे में हैं। परिवारवालों की माने तो पुलिस ने समय रहते ऐक्शन दिखाती तो आज उनके जिगर का टुकड़ा शायद उनके पास होता। एनबीटी ऑनलाइन से बातचीत में सारनाथ इंस्पेक्टर इंद्र भूषण यादव ने बताया कि इस मामले में पहले ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। अब घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से घटना से शामिल बदमाशों का पता लगाया जा रहा है।