गोंडा में पास गड्ढे में मिला 50 दिन से लापता युवक का नर कंकाल, चप्‍पल व कपड़ों से हुई शिनाख्‍त


गोंडा। उत्‍तर प्रदेश के गोंडा का एससीपीएम नर्सिंग कॉलेज फिर से एक बार सुर्खिंयों में आ गया है। 50 दिन से लापता एक 28 वर्षीय युवक का कंकाल कॉलेज से बरामद हुआ। कंकाल कॉलेज के निकट सड़क के किनारे गड्ढे में पाया गया। कंकाल की चप्‍पल व कपड़े से मृतक की पहचान हो सकी। बता दें, इससे पहले इसी कॉलेज के मेड‍िकल छात्र गौरव का अपहरण होने से  चर्चा में आया था। मामला कटरा बाजार थाना क्षेत्र के नकही गांव का है। यहां के निवासी रामभजन का पुत्र प्रदीप(28) मजदूरी करता था। पिता रामभजन व उसके भाई रामनिवास ने बताया कि 19 दिसंबर 2020 को वह घर से गोंडा शहर की ओर मजदूरी करने के लिए गया था। देर शाम तक वापस न आने पर उसकी तलाश शुरू की गई। कहीं न मिलने पर कटरा बाजार थाने में बीते 23 दिसंबर को गुमशुदगी लिखाई गई। इसके बाद से उसकी तलाश चलती रही। 50 दिन बाद यानी सोमवार (8 फरवरी 2021) को नगर कोतवाली के गोंडा-लखनऊ मार्ग पर हारीपुर स्थित सतीश चंद्र पैरामेडिकल कॉलेज (एससीपीएम) के निकट सड़क के किनारे गड्ढे में कुछ लोगों ने नर कंकाल देखा। इसके बाद इसकी सूचना सामने स्थित पुलिस चौकी को दी गई। नर कंकाल की सूचना मिलते ही नगर कोतवाल सहित अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। 
कंकाल की चप्‍पल व कपड़े से हुई बेटे की श‍िनाख्‍त:  नर कंकाल मिलने की सूचना पर रामभजन व राम निवास भी मौके पर पहुंचे। वहां उन्होंने मिले कपड़े व चप्पल से कंकाल की पहचान अपने बेटे प्रदीप के रूप में की। नगर कोतवाल आलोक राव ने बताया कि पूरे प्रकरण की गंभीरता से जांच की जा रही है। पोस्टमॉर्टम व फॉरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। प्रदीप दो भाई थे। एक भाई रामनिवास है। प्रदीप की शादी कंचन के साथ हुई थी। अभी उसके कोई बच्चा नहीं है।