मंत्री जी के गांव में नेटवर्क नहीं, 50 फीट ऊंचे झूले में बैठ करते हैं बात


  • एमपी के राज्य मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव के गांव में मोबाइल नेटवर्क की समस्या
  • मोबाइल से बात करने के लिए मंत्री ले रहे हैं झूले का सहारा
  • 50 फीट ऊंचे झूले पर बैठ मंत्री अधिकारियों से करते हैं बात
  • गांव में नेटवर्क नहीं होने की वजह से मंत्री को हर दिन करना पड़ता है ऐसा
अशोकनगर,(मध्य प्रदेश)। एमपी के ग्रामीण इलाकों में आज भी मोबाइल नेटवर्क की दिक्कत है। ग्रामीण इलाकों से आए दिन ऐसी तस्वीरें सामने आती हैं, जब लोग नेटवर्क के लिए पेड़ पर चढ़े नजर आते हैं। अपने गांव में मोबाइल नेटवर्क की समस्या से शिवराज सरकार के मंत्री भी जूझ रहे हैं। फोन से बात करने के लिए उन्हें 50 फीट ऊंचे झूले का सहारा लेना पड़ा रहा है। झूले पर चढ़ने के बाद हर दिन उन्हें मोबाइल नेटवर्क मिलता है। दरअसल, यह तस्वीर एमपी के अशोक नगर जिले की है, जहां झूले पर बैठ कर शिवराज सरकार के मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव मोबाइल से बात कर रहे हैं। मंत्री जी को जन समस्याओं की सुनवाई के लिए हर दिन 3 घंटे तक झूले पर रहना पड़ता है क्योंकि नीचे उतरने पर मोबाइल में नेटवर्क नहीं रहता है। बृजेंद्र सिंह यादव शिवराज सरकार में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री हैं। मुंगावली के सुरेल गांव में वह भागवत कथा करवा रहे हैं। इसमें मुख्य यजमान मंत्री ही हैं। कथा की वजह से मंत्री को 9 दिन तक गांव में ही रहना है। ऐसे में लोग उनके पास अपनी समस्याएं लेकर भी आ रहे हैं, लेकिन गांव में मोबाइल नेटवर्क नहीं होने की वजह से वह अधिकारियों को निर्देश नहीं दे पाते हैं। गांव के आसपास पहाड़ी है, इसकी वजह नेटवर्क नीचे नहीं आता है। मोबाइल से बात करने और अधिकारियों को निर्देश देने के लिए उन्हें झूले पर चढ़ना पड़ रहा है। मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव ने कहा कि मैं यहां भागवत में मुख्य यजमान हूं, मुझे यहां 9 दिन रहना है। लोग समस्याएं लेकर आते हैं। यहां सिग्नल न होने से अधिकारियों से बात नहीं हो पाती इसलिए समस्याओं का समाधान नहीं कर पाता हूं। मैं यहां लगे झूले पर बैठकर ऊपर जाता हूं और समस्या का समाधान करता हूं।