मिस कॉल से शुरू हुई लव स्‍टोरी, अवैध संबंध के शक में ले ली पत्‍नी की जान


  • यूपी के ग्रेटर नोएडा में अवैध संबंध के शक में गला दबाकर गर्भवती पत्नी की हत्या का मामला सामने आया है
  • आरोपी हत्या के बाद शव को दो दिन तक घर में ही रखा और ठिकाने लगाने का प्रयास करता रहा
  • बुधवार की दोपहर आरोपी खुद कोतवाली पहुंचा और पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल कर ल‍िया
नोएडा। यूपी के ग्रेटर नोएडा में अवैध संबंध के शक में गला दबाकर गर्भवती पत्नी की हत्या का मामला सामने आया है। आरोपी पति नोएडा की ही एक कंपनी में इंजीनियर है। बताया जा रहा है कि हत्या के बाद शव को दो दिन तक घर में ही रखा और ठिकाने लगाने का प्रयास करता रहा। बुधवार की दोपहर आरोपी खुद कोतवाली पहुंचा और पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल कर ल‍िया। पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। पुलिस के मुताबिक, 22 फरवरी को सुबह साढ़े छह बजे खुशी की बिस्तर पर गला दबाकर हत्या कर दी थी। दोनों ने आर्यसमाज मंदिर बीटा-2 में करीब 10 महीने पहले शादी की थी। ग्रेटर नोएडा के अडिशनल डीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि मूलरूप से एटा का रहने वाला रजनीकांत दीक्षित सेक्टर अल्फा-2 स्थित किराए के मकान में पत्नी खुशी दीक्षित (24) निवासी हापुड़ के साथ रह रहा था। रजनीकांत ने बताया कि तीन वर्ष पूर्व एक मिस कॉल आया था। इस दौरान फोन पर बात होने के चलते दोनों में प्रेम संबंध हुए थे। दोनों ने करीब 10 महीने पहले लॉकडाउन के दौरान लव मैरिज की थी। खुशी गायिका थी और माता के जागरण आदि कार्यक्रमों में गाती थी। ये दोनों 4 माह पहले ही नोएडा के भंगेल से अल्फा-2 में रहने आए थे। खुशी करीब 8 महीने की गर्भवती थी।
22 फरवरी को कर दी हत्‍या
पुलिस पूछताछ में आरोपी रजनीकांत ने बताया कि 21 फरवरी शाम उसने देखा कि उनके घर से हरियाणा का रहने वाला बल्‍लू नाम का युवक बाहर निकल रहा है। उसकी पत्नी शादी से पहले से उसे जानती थी। उसका नंबर पत्नी के मोबाइल में भी सेव था। यहां तक कि वॉट्सऐप पर भी चैटिंग होती थी। रजनीकांत ने बल्लू के घर आने के बारे में पूछा तो विवाद शुरू हो गया। रजनीकांत ने अवैध संबंध के शक में 22 फरवरी की सुबह अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद रजनीकांत पत्नी खुशी की हत्या करने के बाद 2 दिन तक उसके शव के पास रहा।
शव को घर में ही दफनाने का किया प्रयास
रजनीकांत ने पत्नी की हत्या करने के बाद उसके शव को घर में ही गड्ढा खोदकर दफनाने का प्रयास किया, लेकिन उसमें सफल नहीं हो सका। इसके बाद आरोपी ने घर में बने सीवर के मैनहोल को खोलकर शव को उसमें डालने की कोशिश की। वह शव को ठिकाने नहीं लगा सका। सूत्रों के अनुसार जब आरोपी शव को ठिकाने नहीं लगा पाया तो उसने घटना की जानकारी अपने परिवार के लोगों को दी। बताया जा रहा है कि परिवार में कई लोग पुलिस की नौकरी करते हैं। उन्होंने तुरंत आरोपी को जुर्म कबूल करने और सरेंडर करने की सलाह दी। जिसके बाद आरोपी ने कोतवाली पहुंचकर सरेंडर किया।
रजनीकांत ने परिवार वालों को लव मैरिज की जानकारी नहीं दी थी। उसे डर था किया उसका विरोध होगा। हत्या के बाद परिजनों को शादी के बारे जानकारी लगी है। वह दो रात पत्नी के पास बैठकर उसके चेहरे को निहारता रहा। एक पल के लिए सो नहीं सका। हत्या करने के बाद कई भागने का भी प्रयास किया था।
रजनीकांत ने बताया कि पड़ोसियों को बदबू न आए इसके लिए उसने अपनी पत्नी की डेड बॉडी को फ्रीज करने के लिए फ्रीजर से बर्फ निकालकर उसके ऊपर रखी थी। यहां तक कि पूरे घर में परफ्यूम भी स्प्रे किया था। पत्नी की हत्या कर दे के बाद रजनीकांत अपने ऑफिस नहीं गया था। वह सुबह से शाम तक शहर में इधर-उधर घूम कर आ जाता था। इस हत्याकांड की जानकारी उसने अपने पड़ोसियों तक को नहीं लगने दी। अपना व्यवहार में बिल्कुल भी बदलाव नहीं किया।