गाजियाबाद कोर्ट से एक और मुकदमे की फाइल गायब, कर्मचारी पर दोबारा केस


गाजियाबाद ब्यूरो। सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट से कर्मचारी ने कोर्ट में लंबित एनआई एक्ट के एक और मुकदमे के दस्तावेज गायब कर दिए। मामले में जिला न्यायालय के प्रशासनिक अधिकारी सुनील दत्त ने आरोपी कर्मचारी मोनू वर्मा के खिलाफ कविनगर थाने में केस दर्ज कराया है। आरोपी वर्तमान में एडीजे-15 कोर्ट में तैनात है। कविनगर थाने में दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक, अपर सिविल जज सीनियर डिवीजन संख्या-2 की अदालत में दिग्विजय सिंह बनाम अजय कुमार एनआई एक्ट का फौजदारी केस चल रहा था। अदालत के तत्कालीन सहायक लिपिक मोनू वर्मा पर उक्त मुकदमे की फाइल गायब करने का मामला सामने आया था। मोनू वर्मा वर्तमान में अपर जिला जज-15 की अदालत में बतौर लिपिक कार्यरत है। विभागीय जांच में मोनू वर्मा पर दस्तावेजों को गायब करने का दोषी पाया गया। जिसके बाद जिला जज ने उक्त संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराने का आदेश दिया। इसके बाद जिला अदालत के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी ने कविनगर थाना पुलिस को एफआईआर के लिए पत्र भेजा। सीओ द्वितीय अवनीश कुमार का कहना है कि एडीजे कोर्ट-15 में तैनात लिपिक मोनू वर्मा के खिलाफ अभिलेख गबन करने का मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। बता दें कि मोनू ने कोर्ट में विचाराधीन एनआई एक्ट के एक और केस की फाइल गायब कर दी थी। इसके संबंध में उसके खिलाफ पूर्व में कविनगर थाने में केस दर्ज कराया जा चुका है।