लोनी के डाबर तालाब क्षेत्र में बोरे में शव के टुकड़े मिलने पर मचा हड़कंप


मोहनलाल गौड,(गाजियाबाद)। लोनी के डाबर तालाब क्षेत्र के एकनाले में किसी आदमी के शव आधा टुकड़ा मिलने से जिले में हड़कंप मच गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। आशंका है कि 20 से 25 दिन पहले युवक की हत्या कर बदमाशों ने युवक के टुकड़े किए होंगे, जिसे यहां ठिकाने लगाया है। पुलिस ने शव के बाकी हिस्से की भी तलाश कर रही हैलोनी क्षेत्राधिकारी अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि बुधवार की दोपहर करीब सवा 11 बजे एक प्लास्टिक में शव मिलने की सूचना मिली। मौके पर नाले से बोरेको बाहरनिकलवाया गयाउस समय बोरेसे शव की टांगेझांक रही थी। बोरा खुलवाने पर उसमें से एक युवक के सीने से नीचे का हिस्सा मिलातत्काल मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई और शव के इस हिस्से को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस अधीक्षक देहात ईराज राजा ने बताया कि शव को देखकर प्रतीत हो रहा है कि इसकी हत्या 20 से 25 दिन पहले हुई होगी। उन्होंने बताया कि हत्या कहीं औरहुई है और बदमाशों ने शवके टुकड़े कर अलग अलग स्थानों पर ठिकाने लगाया है। अभी तक इस शव का एक ही हिस्सा मिला है। इसलिए बाकी हिस्से की तलाश के लिए आसपास के इलाकों में कराया जा रहा है।
आशंकाः आरी से किए गए हैं टुकड़े 
पुलिस ने बताया कि जिस तरह से शव को काटा गया है, निश्चित रूप से किसी बड़े और धारदार हथियार से इसे काटा गया होगा। आशंका है कि शव को टुकड़े टुकड़े करने के लिए लकड़ी काटने वाली आरी का इस्तेमाल किया गया है। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने बताया कि जहां शव मिला है, वह दिल्ली से लगता हुआ इलाका है। इसलिए यह भी आशंका जताई जा रही है कि हत्या की वारदात को दिल्ली में अंजाम दिया गया होगा और शव को यहां ठिकाने लगाया गया है।
सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस
पुलिस ने शव की शिनाख्त के लिए गाजियाबाद के सभी थाना पुलिस के अलावा दिल्ली के सीमावर्ती थानों को सूचना दे दी है। इन सभी थाना क्षेत्र में लापता लोगों की डिटेल खंगाली जा रही है। वहीं बदमाशों की पहचान के लिए घटना स्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने बताया कि चूंकि काफी पहले यह शव यहां डाला गया होगा, इसलिए वाहनों के पहियों के निशान मुश्किल हैं। ऐसे में अब सीसीटीवी कैमरों से ही कुछ सुराग मिलने की उम्मीद है।