वृंदावन में पीली धोती पहने बैट्री साइकिल पर दिखे तेजप्रताप, वीडियो बनाने पर बोले- केस कर दूंगा


  • वृंदावन में लालू प्रसाद के बड़े तेजप्रताप यादव
  • बैट्री साइकिल पर तेजप्रताप ने पंचकोसी यात्रा पूरी की
  • वीडियो बनाने वाले को केस करने की चेतावनी
  • तेजप्रताप यादव का आध्यात्म से अनूठा रिश्ता
वृंदावन। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू-राबड़ी के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव का आध्यात्म से अनूठा रिश्ता है। मथुरा और काशी जाते रहते हैं। पटना में रहते हैं तो घर पर भी पूजापाठ करते रहते हैं। माथे पर त्रिपुंड धारण किए रहते हैं। लालू प्रसाद जब ज्यादा बीमार थे तो तेजप्रताप यादव ने पटना के अपने घर पर पूजा का आयोजन किया था। तेजप्रताप आजकल वृंदावन के गलियों में बैट्री साइकिल से घुम रहे हैं।
वृंदावन की गलियों में साइकिल पर तेजप्रताप
तेजप्रताप यादव को वृंदावन की गलियों को साइकिल से नाप रहे हैं। वो इससे पहले भी वृंदावन आ चुके हैं। यहां कभी यमुना किनारे गायों के बीच बंशी बजाते दिख जाते हैं तो कभी मंदिरों में पूजा-अर्चना करते। तेजप्रताप यादव ने बैट्री से चलने वाली साइकिल से वृंदावन की सैर की। तेजप्रताप की साइकिल को देखकर उनके आसपास से गुजरने वाले भी हैरान था। यहां पंचकोसी परिक्रमा में तेजप्रताप यादव साइकिल चलाते नजर आए। इस दौरान वीडियो बनाने वाले को केस करने की चेतावनी भी दी।
पीली धोती पहने बैट्री साइकिल पर तेजप्रताप
पीली धोती, बगलबंदी, सिर पर टोपी और गले में शॉल डाले तेजप्रताप बिल्कुल ब्रजवासी लग रहे थे। तेजप्रताप यादव अपने साथ सुरक्षाकर्मियों को भी ले गए हैं। उनके सिक्योरिटी पर्सन दूसरी साइकिलों पर परिक्रमा कर रहे थे। परिक्रमा के दौरान तेजप्रताप मीडियावालों से दूरी बनाए रखे। ब्रज में तेजप्रताप लोगों से मिलना-जुलना पसंद नहीं करते हैं। वो बिल्कुल आध्यातमिक होकर रहना चाहते हैं। पिछले साल भी आए थे तो अपने दोस्त लक्ष्मण शर्मा के साथ काशीघाट गए थे। यहां उन्होंने यमुना में नौका विहार किया था।
तेजप्रताप को लुभाता है मथुरा-वृंदावन
तेजप्रताप को हमेशा ब्रज लुभाती है। उनको यहां की धार्मिक यात्रा आनंद देती है। वृंदावन के ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के ज्ञानेंद्र गोस्वामी से तेजप्रताप यादव का गुरु-शिष्य वाला संबंध है। पिछले साल भी जब तेजप्रताप आए थे तो ज्ञानेंद्र स्वामी ने ही उन्हें बांकेबिहारी मंदिर में पूजा-अर्चना कराया था। तेजप्रताप रंगजी मंदिर में ठाकुर जी का दर्शन कर चुके हैं। इस साल जनवरी में भी जब तेजप्रताप वृंदावन आए थे तो उन्होंने श्रीबांकेबिहारी और रंगजी मंदिर में दर्शन किए थे। इस दौरान ब्रज से खरीदारी भी की थी। इस बार तेजप्रताप बिल्कुल नए अंदाज में ब्रज की गलियों का लुत्फ उठा रहे हैं।