दीप सिद्धू पर दिल्‍ली पुलिस ने रखा एक लाख का इनाम, हिंसा के बाद से है फरार


  • दिल्‍ली पुलिस ने दीप सिद्धू पर एक लाख का इनाम रखा
  • लाल किले के प्राचीर में झंडा फहराने का आरोपी दीप सिद्धू अब तक फरार
  • उत्पात के वीडियो के जरिए दीप सिद्धू की पहचान की गई थी

नई दिल्ली ब्यूरो। दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले के प्राचीर में झंडा फहराने का आरोपी दीप सिद्धू अब तक फरार है। इस बीच दिल्‍ली पुलिस ने दीप सिद्धू पर 1 लाख का इनाम रख दिया है। बता दें कि प्रदर्शनकारी किसानों की गणतंत्र दिवस के मौके पर निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान जमकर हिंसा हुई थी। प्रदर्शनकारियों ने लाल किले की प्राचीर पर जाकर निशान साहिब का झंडा भी फहरा दिया था। दरअसल 26 जनवरी 2021 को देश की राजधानी में हुई हिंसक घटना और लाल क़िले पर सिखों के पवित्र झंडे निशान साहब फहराने के पीछे पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू का नाम सामने आया। 26 जनवरी की हिंसा के ठीक अगले दिन दीप सिद्धू पर भड़काऊ भाषण देने और उपद्रव फैलाने के लिए पुलिस ने FIR दर्ज की थी।
अंग्रेजी में पुलिस अधिकारी से की थी बात
दीप सिद्धू के बारे में पंजाब के बाहर अधिकतर लोगों ने उस वक्त जाना जब पिछले साल नवंबर में उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस वीडियो में सिद्धू सिंघु बॉर्डर पर किसानों संग खड़ा था। वीडियो में वह एक पुलिस अधिकारी से अंग्रेजी में बात करते हुए देखा गया। शुरुआत में वीडियो 'अंग्रेजी बोलने वाले किसान' के रूप में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। बाद में पता चला कि दीप पंजाबी फिल्मों का जाना-माना नाम है। वो कई फिल्मों में काम कर चुका है।
बीजेपी से जोड़ा गया था नाम
सिद्धू और राजनीति केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दीप सिद्धू की तस्वीरों के आधार पर, सिद्धू पर बीजेपी और आरएसएस के एजेंडे को आगे बढ़ाने के भी आरोप लगाए गए हैं। सिद्धू ने 2019 के लोकसभा चुनाव में सनी देओल के लिए गुरदासपुर में जमकर प्रचार किया था। हालांकि, बीते मंगलवार को दीप का वीडियो वायरल होने के बाद सनी देओल ने सिद्धू से खुद को दूर कर लिया था।