पालघर प्रशासन का आदेश,स्कूल में जीन्स पहनकर आने वाले पांच शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस


  • पालघर में 5 शिक्षकों को जींस पहनकर आने के चलते कारण बताओ नोटिस
  • पंचायत समिति ने 2 दिन के अंदर जवाब के साथ हाजिर होने का दिया आदेश
  • राज्य सरकार ने जींस पहनकर आने पर लगाई है पाबंदी
  • कुछ दिन पहले ही राज्य सरकार ने इस नियम को लागू किया है
पालघर। महाराष्ट्र के आदिवासी जिले पालघर में एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है। पालघर में 5 शिक्षकों को स्कूल प्रशासन ने जींस पहनकर आने की वजह से कारण बताओ नोटिस जारी किया है। यह नोटिस विक्रमगढ़ तहसील में शिक्षा विभाग द्वारा जारी किया गया है। सरकार द्वारा जारी नियमों के अनुसार शिक्षकों को शालीन और सभ्य कपड़ों में स्कूल आने के लिए कहा गया है। हाला के 5 शिक्षकों द्वारा जींस पहन कर आने के कारण उन्हें शो कॉज नोटिस भी जारी किया गया है। नोटिस के मुताबिक 2 दिनों के अंदर इन शिक्षकों को अपना जवाब लेकर कार्यालय में हाजिर होना पड़ेगा। यदि समय पर जवाब नहीं दिया गया तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।
क्या है शासन का आदेश
शासन के आदेश के अनुसार सभी कर्मचारियों को शोभनीय कपड़े पहनकर कार्यालय में आना अनिवार्य किया गया है। सरकार द्वारा दी गई इस सूची में जींस पैंट पहनकर आने की अनुमति नहीं दी गयी है। नोटिस में यह भी पूछा गया है कि जब शासन द्वारा यह आदेश जारी किया गया है। उसके बाद भी आदेश का अनुपालन क्यों नहीं किया जा रहा है?
चर्चा में क्यों हैं जीन्स और टी-शर्ट
कुछ दिन पहले से महाराष्ट्र सरकार ने सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए जींस और टीशर्ट पहनकर कार्यालय आने पर पाबंदी लगाई हुई है। कार्यालय में आने के लिए किस प्रकार का परिधान होना चाहिए। इस बाबत सरकार ने जीआर निकाला है। कुछ दिनों पहले जब सरकार ने यह नियम शुरू किया था। तब इसकी काफी आलोचना भी की गई थी। स्लीपर पहनकर आने पर भी पाबंदी लगाई गई है। इस नियम के पीछे सरकार की मंशा यह थी कि सरकारी कर्मचारियों के प्रति जनता की भावना बदले और वह एक जवाबदार अधिकारी या कर्मचारी लगें।