रिंकू शर्मा हत्याकांड में चार और आरोपी गिरफ्तार, पहले भी हो चुकी है पांच लोगों की गिरफ्तारी


दिल्ली ब्यूरो। दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में हुए रिंकू शर्मा हत्याकांड के मामले में रविवार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने चार और लोगों को गिरफ्तार किया है। इससे पहले भी पांच आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की एक टीम ने दीन मोहम्मद (40), दिलशान (22), फैयाज (21) और फैजान (21) को गिरफ्तार किया है। ये सभी मंगोलपुरी के निवासी हैं। पुलिस ने कहा कि शर्मा की हत्या के मामले में अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अतिरिक्त पीआरओ (दिल्ली पुलिस) अनिल मित्तल ने कहा कि साक्ष्यों की जांच करने और सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण करने के बाद, मामले की जांच कर रही अपराध शाखा की टीम ने चार और लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि एक सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान की गई और उन्हें गिरफ्तार किया गया, जिसमें वे शर्मा पर हमला करते देखे गए थे। मालूम हो कि दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में बीते 10 फरवरी को देर रात हमलावरों ने भाजपा युवा मोर्चा के एक कार्यकर्ता की लाठी से पिटाई के बाद चाकू घोंपकर हत्या कर दी थी। घटना के बाद इलाके में दो समुदायों के बीच तनाव फैल गया। जिसकी वजह से इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया।
हालांकि, परिवार वालों का आरोप है कि दशहरा पर राममंदिर पार्क में प्रोग्राम को लेकर दूसरे समुदाय के लोगों से विवाद चल रहा था, जिसकी वजह से युवक की हत्या की गई। इसके अलावा एक ओर एक बड़ा वर्ग ये आरोप लगा रहा है कि उसकी हत्या राम मंदिर के लिए चंदा मांगने की वजह से हुई। वहीं पुलिस की थ्योरी इस मामले में पूरी तरह से अलग है। पुलिस ने जो जांच की है उसके आधार पर अतिरिक्त डीसीपी एस धामा ने बताया था कि 25 वर्षीय रिंकू पर 10 फरवरी की रात जन्मदिन की पार्टी में चाकू से हमला हुआ था। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।आरोपियों और उसके बीच झगड़ा एक रेस्टोरेंट को बंद करने को लेकर हुआ था। पुलिस का कहना है कि इस हत्या के मामले से किसी भी और वजह का जोड़ा जाना तथ्यात्मक रूप से गलत है। पुलिस ने बताया है कि रिंकू पर हमला करने वाले सभी उसे जानते थे। दोनों पक्षों में खाने की दुकान को खोलने को लेकर झगड़ा चल रहा था। यह दोनों दुकानें आसपास थीं। पुलिस ने परिवार की शिकायत के बाद पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था, जिसके बाद फिर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।