राकेश टिकैत बोले, हम बातचीत को तैयार, सरकार वार्ता के जरिये समस्या का हल निकाले


गाजियाबाद ब्यूरो। कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। दिल्ली से सटे बाॅर्डरों पर किसान डटे हैं। संसद में आम बजट पेश किए जाने की वजह से सुरक्षा व्यवस्था भी चाक-चौबंद है। किसानों के संसद की ओर कूच करने की आशंका के मद्देनजर बैरिकेंडिग की गई है। रास्तों में भी बदलाव किए गए। इन सारी कवायदों के बीच किसान नेता की ओर से बातचीत को लेकर एक बयान सामने आया है। किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार बातचीत से इस समस्या का हल निकाले। हम बातचीत को तैयार हैं। टिकैत ने कहा कि किसान मोर्चा के 40 संगठनों की 40 सदस्यी कमेटी से सरकार बात करे। गौरतलब है कि सर्वदलीय बैठक के दौरान पीएम मोदी ने सकहा था कि हम आम सहमति तक नहीं पहुंच रहे हैं, लेकिन हम आपको प्रस्ताव दे रहे हैं और किसान विमर्श कर सकते हैं। मैं सिर्फ एक फोन काॅल की दूरी पर हूं। जिसके बाद राकेश टिकैत ने कहा कि हमारे जो लोग जेल में बंद हैं वो रिहा हो जाएं फिर बातचीत होगी। प्रधानमंत्री ने पहल की है और सरकार और हमारे बीच की एक कड़ी बने हैं। किसान की पगड़ी का भी सम्मान रहेगा और देश के प्रधानमंत्री का भी।