गाजियाबाद के वैशाली में पत्नी की गला दबाकर हत्या करने के बाद अपने हाथ की भी काट ली नस


सूर्य प्रकाश,(गाजियाबाद)। वैलंटाइंस डे के दिन पत्नी की गला दबाकर हत्या करने के करीब 6 घंटे बाद अपने हाथ की भी नस काट ली। यह घटना गाजियाबाद के वैशाली सेक्टर पांच के ऋषि अपार्टमेंट में हुई। नस काटने के बाद वह घायल हालत में घर से निकल गया और पास के खाली प्लॉट में बेहोशी की हालत में मिला, जब स्थानीय लोगों ने उसे देखा तो 112 नंबर पर कॉल कर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची कौशांबी थाने की पुलिस ने पहले घायल को अस्पताल में भर्ती करवाया और फिर घर पर उसकी पत्नी के मृत मिलने पर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। एएसपी सेकंड ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि घायल का नाम देवजीत दत्ता है। वह अपार्टमेंट में पत्नी पूजा और 10 साल के बेटे के साथ रह रहा था। उसने पहले पत्नी की गला दबाकर हत्या की और फिर अपने हाथ ही नस काट कर आत्महत्या का प्रयास किया। उसने एक वॉइट बोर्ड पर एक नोट लिखा है। जिसमें उसने अपने आप को इसका जिम्मेदार बताया है। एएसपी ने बताया कि देवजीत की हालत में सुधार है। उसके होश में आने के बाद पूछताछ की जाएगी।
बेटे को रिश्तेदार के घर छोड़ रात में कर दी वारदात
पुलिस के अनुसार देवजीत रविवार को बेटे को दिल्ली में उसके रिश्तेदार के घर पर छोड़कर आया था। इसके बाद उसने रात में 11:30 बजे पत्नी की गला दबाकर हत्या की और फिर पूरी रात उसके शव के साथ रहा। इस दौरान उसने मार्कर से एक नोट दीवार पर टंगे वॉइट बोर्ड पर लिखा और सुबह करीब 5 बजे अपने हाथ ही नस काट ली।
नस काटकर आया घर के बाहर
नस काटने के बाद वह घर से बाहर आ गया। वह एक खाली प्लॉट में पहुंचा और बेहोश होकर गिर गया। उसने पत्नी और अपनी दोनों की मौत की टाइमिंग भी बोर्ड पर लिखी थी। इस घटना के बाद खबर लिखे जाने तक परिवार की तरफ से कोई शिकायत नहीं दी गई है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि सुबह 7 बजे उसे घटना की सूचना मिली।
'15 दिन में लगातार गलत हुआ'
पुलिस के अनुसार देवजीत ने बोर्ड पर अपनी और पत्नी की मौत की टाइमिंग के साथ एक नोट छोड़ा है। अंग्रेजी में लिखे इस नोट में उसने अपने आप को इस सब का जिम्मेदार बताया है। उसने लिखा है कि ऐसा करने के पीछे मुख्य कारण उसके अंदर का अंधकार है। उसके बारे में वह किसी को बता नहीं सकता है। इसके अलावा उसने लिखा है कि बीते 15 दिनों में जो हुआ गलत था। इसके कारण वह यह कदम उठा रहा है। पत्नी को मारने को लेकर उसने लिखा है कि पूजा ने अपनी जान बचाने के लिए बहुत संघर्ष किया, लेकिन वह बच नहीं पाई। साथ ही उसने बेटे का ध्यान रखने की बात आखिर में लिखी है।
आर्थिक तंगी हो सकती है कारण
प्राथमिक जांच में बाद पुलिस मामले को आर्थिक तंगी से जुड़ा मान रही है। हालांकि उसके बारे में स्पष्ट जानकारी देवजीत से पूछताछ के बाद ही सामने आएगी। एएसपी ने बताया कि देवजीत कुछ ऑनलाइन काम करता था। उसकी पत्नी एक प्राइवेट स्कूल में नौकरी करती थी, जो उसने 2 साल पहले छोड़ दी थी। उनके घर की ईएमआई टूटने पर बैंक ने भी नोटिस जारी किए थे। बेटे की फीस के संबंध में भी कुछ बातें सामने आ रही हैं। स्पष्ट स्थिति का पता पूछताछ के बाद ही चलेगा, ऐसे में देवजीत की हालत में सुधार होने का इंतजार किया जा रहा है।