कई राज्यों के लिए सिरदर्द बना सुपर चोर संजय पहाड़िया गिरफ्तार


  • नोएडा पुलिस ने कई राज्यों के लिए सिरदर्द बने सुपरचोर को दबोचा
  • 10वीं फेल संजय पहाड़िया पर दिल्ली-एनसीआर में 52 मुकदमे दर्ज
  • संजय समेत 3 अरेस्ट, चोरी करने के लिए पॉश सोसाइटी को चुनते थे
  • आरओ लगाने के नाम पर बंद घरों की रेकी किया करते थे गैंग के सदस्य
नोएडा। कई राज्यों के लिए सिरदर्द बना सुपरचोर संजय पहाड़िया आखिरकार पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। अलग अंदाज में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले सुपर चोर संजय पहाड़िया को नोएडा पुलिस ने दबोचा है। शनिवार को सेक्टर-6 के पास से चेकिंग के दौरान उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया गया। उसके खिलाफ दिल्ली-एनसीआर के थानों में 52 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। पूछताछ में यह भी पता चला है कि सुपरचोर संजय फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता था। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के पास से चांदी के बर्तन, जेवरात, घरों के ताला तोड़ने में इस्तेमाल औजार, इंटरनेट डोंगल, 8 मोबाइल, डेढ़ लाख की घड़ी, 10 हजार रुपये कैश, दो तमंचे और चोरी की घटनाओं में इस्तेमाल की जाने वाली कार भी बरामद की है। डीसीपी नोएडा ने आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार का पुरस्कार देने का ऐलान किया है। जानकारी के अनुसार, पुलिस की टीम सेक्टर-6 के पास वाहन चेकिंग कर रही थी। उसी दौरान एक एक्सयूवी को रोककर तलाशी ली गई। उसमें चोरी का माल बरामद हुआ। संदेह होने पर पुलिस ने कार सवार को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। पूछताछ के दौरान उन्होंने चोरी की वारदात को अंजाम देना कबूल कर लिया। पुलिस ने मौके से दिल्ली के संगम विहार निवासी संजय पहाड़िया, नांगलोई निवासी जावेद और संगम विहार निवासी सुरेश को गिरफ्तार किया है। डीसीपी राजेश एस का कहना है कि संजय पहाड़िया पर दिल्ली-एनसीआर के थानों में करीब 52 मुकदमे दर्ज हैं। जावेद पर 7 और सुरेश उर्फ चचा पर 6 मुकदमे हैं। डीसीपी नोएडा ने बताया कि आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वे चोरी करने के लिए पॉश सोसाइटी को चुनते थे। सभी आरोपी अपना फोन बंद कर इंटरनेट डोंगल की मदद से वाई-फाई से कनेक्ट हो जाते थे। इसके बाद आरोपी अपनी लग्जरी गाड़ियों पर बार असोसिएशन के स्टीकर लगाकर सोसाइटी में पहुंचते थे। आरओ लगाने के नाम पर बंद घरों की रेकी किया करते थे। उसके बाद चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। दसवीं फेल संजय पहाड़िया फर्राटेदार अंग्रेजी भी बोलता है। उन्होंने बताया कि इस बदमाश को पहले भी दिल्ली सहित कई अन्य स्थानों पर पुलिस ने गिरफ्तार किया था।