नेपाल बॉर्डर पर जमकर हंगामा, पुलिस ने मोर्चा संभाल शांत कराया मामला


महराजगंज। कोरोना वायरस के बीच बंद भारत नेपाल बॉर्डर को बीते दिनों व्यापारियों और आम जनता के लिए सरकार से मिली गाइड लाइन तहत खोल दिया गया है। दोनों देशों के नागरिकों के लिए बॉर्डर को खोल दिया गया। इन सब के बीच आज नेपाली नागरिकों में पहचान पत्र को लेकर आक्रोश फूट गया जिसके बाद नेपालियों ने भारतीयों के आवाजाही पर रोक लगाते हुए सीमा को बंद कर धरना प्रदर्शन किया। उधर सूचना पर पहुंची पुलिस समझाते हुए मामले को शांत कराया। बीते वर्ष कोविड 19 के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए भारत सरकार के निर्देश के बाद सोनौली बॉर्डर को बंद करते हुए आवाजाही पर रोक लगा दी गई थी। कोरोना वैक्सीन के आने के बाद सरकार ने पुनः गाइड लाइन के तहत बॉर्डर को खोलने का आदेश दिया था। बॉर्डर खुलने के बाद दोनों देशों के सीमा पर तैनात एसएसबी के जवानों के पहचान पत्र चेकिंग करने के बाद ही सीमा में प्रवेश की अनुमति मिलती थी। इन सब के बीच आज सीमा पर तैनात एसएसबी के जवान ने नेपाली नागरिकों से पहचान पत्र मांगा तो उनमें अधिकतर नागरिकों ने अपनी पहचान पत्र देने में असमर्थ दिखे। जिसके बाद एसएसबी के जवानों ने उन्हें रोकते हुए प्रवेश देने से मना कर दिया।