चौरी-चौरा शताब्दी वर्ष साप्ताहिक कार्यक्रम एसडीएम की उपस्थिति में संपन्न - शहीद स्मारक पर जले दीप


निशांत कुमार,(फर्रुखाबाद)। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की प्रेरणादायी जनक्रांति चौरी चौरा आंदोलन के 100 वें वर्ष में प्रवेश के अवसर पर आयोजित चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव का शुभारम्भ एवं चौरी चौरा शताब्दी वर्ष पर डाक टिकट विमोचन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गरिमामयी उपस्थिति में चौरी चौरा स्मारक गोरखपुर में किया गया था । इसके साथ वर्ष भर स्वतंत्रता संग्राम की तिथियों पे शहीद स्थलों /स्मारकों पर कार्यक्रमों का आयोजन । शहीद स्थलों /स्मारकों पर प्रति सप्ताह पुलिस बैण्ड द्बारा राष्ट्र धुन की प्रस्तुति । शहीद स्थलों/स्मारकों पर दीप प्रज्वलन। वंदे मातरम गायन । देश भक्ति पर आधारित कवि सम्मेलन एवं नाट्य समारोह । स्वतंत्रता संग्राम के साहित्य एवं पुस्तकों की प्रदर्शनी। चौरी चौरा के साथ ही बिठूर,  मेरठ , वाराणसी, प्रयागराज झांसी व काकोरी लखनऊ में ध्वनि एवं प्रकाश कार्यक्रम। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के राष्ट्रीय नायकों/जन नायकों/स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की फोटो व अभिलेख प्रदर्शनी। स्वतन्त्रता संग्राम की घटनाओं का शिलापट्टों एवं म्यूरल के माध्यम से प्रस्तुतिकरण। आजादी के ज्ञात अज्ञात शहीदों एवं घटनाओं पर सर्वेक्षण, शोध एवं प्रकाशन। इसी क्रम में उपरोक्त ऐतिहासिक स्मरण अवसर पर सन 1972/73 में भारत सरकार द्वारा अमृतपुर के जूनियर हाई स्कूल के प्रांगण में स्थापित करवाए गए स्वतंत्रता संग्राम के शहीद व सेनानी स्मारक पर शाम को दीप जलाए गए । कार्यक्रम लाइव देखा गया एसडीएम बृजेंद्र कुमार, तहसीलदार ,राजस्व निरीक्षक, ग्राम पंचायत अधिकारी अश्विनी यादव , लेखपाल रमेश कुमार , सिद्धांत सिंह ने स्मारक पर माल्यार्पण कर दीप जलाए और शहीदों स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को नमन किया । शिक्षक एवं अन्य लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम का प्रबन्ध निवर्तमान ग्राम प्रधान सुधा सिंह द्बारा किया जा रहा है़ । महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के पौत्र एवं भारतीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं शहीद परिवार संगठन के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी पं ज्ञान प्रकाश शर्मा ने बताया कि सरकार द्बारा स्वतंत्रता संग्राम के शहीद व सेनानियों द्वारा दिए गए अतुलनीय बलिदानों योगदानों को स्मरण किया जा रहा है जिसका गर्व है।