जम्मू-कश्मीर में तैनात भारतीय सेना के हवलदार की प्रयागराज में हत्या


प्रयागराज। जम्मू उधमपुर में तैनात सेना के हवलदार की हत्या से प्रयागराज में सनसनी फैल गई है। हत्या के बाद मृतक के परिवार में कोहराम मच गया। प्रयागराज के धूमनगंज इलाके में हुई इस वारदात के बाद पुलिस घटना के पीछे की वजह तलाशने में जुटी है। इस घटना को लेकर मृतक के साथ में मौजूद लड़की के बार-बार बदले बयान की वजह से हत्या की गुत्थी और उलझती जा रही है। फिलहाल पुलिस के अधिकारियों ने हत्या की गुत्थी को सुलझाने के लिए पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच की टीम को घटना के खुलासे की जिम्मेदारी दी है। जानकारी के मुताबिक, आशुतोष सिंह जम्मू में भारतीय सेना में हवलदार के पद पर तैनात थे। इन दिनों वें छुट्टी लेकर अपने घर आए थे। पड़ोस के रहने वाली एक लड़की के साथ शुक्रवार को किसी काम से बाहर गए थे।
मिलिट्री अस्पताल में हुई मौत
बाहर जाने के कुछ समय बाद ही लड़की ने मृतक आशुतोष सिंह के घर वालों को फोन पर घटना की जानकारी दी। उधर, घटना की सूचना पर आनन-फानन में परिजन, पुलिस मौके पर पहुंचे। जिसके बाद घायल हवलदार को पहले निजी अस्पताल और बाद में आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन मिलिट्री अस्पताल के डॉक्टरों ने 38 वर्षीय हवलदार आशुतोष सिंह को मृत घोषित कर दिया।
लड़की पर हत्या की साजिश का आरोप
वहीं इस घटना के बाद मृतक आशुतोष सिंह के पिता ने साथ में मौजूद लड़की के ऊपर हत्या की साजिश का आरोप लगाया है। पुलिस को की गई शिकायत में भी इसका जिक्र है। दूसरी तरफ लड़की का कहना है आशुतोष सिंह पर कुछ अज्ञात हमलावरों ने हमला किया। जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए। फिलहाल हमला करने वाले कौन थे इसका पता नहीं चल सका ।
गैंगरेप की कही बात
आशुतोष के साथ में मौजूद लड़की ने अपने साथ गैंगरेप की सूचना पुलिस को दी थी । पुलिस ने जब लड़की से पूछताछ की तो लड़की ने बताया मैंने गैंगरेप की सूचना इसलिए दी ताकि पुलिस जल्द आ सके। प्रयागराज एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि जब लड़की ने गैंग रेप की बात बताई तो पुलिस ने मेडिकल जांच के लिए भेज देना चाहा लड़की ने मेडिकल जांच के लिए इनकार कर दिया। इसलिए हत्या की गुत्थी उलझती जा रही है लेकिन हम लोगों ने क्राइम ब्रांच को लगा दिया है। हमें उम्मीद है जल्द से जल्द इस घटना का खुलासा हो जाएगा।